Breaking News

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आंधी-बारिश से फसलें चौपट 

देश के कई हिस्सों में मंगलवार रात आए तूफान  बारिश ने भारी कहर बरपाया. उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, गुजरात, राजस्थान  महाराष्ट्र के विभिन्न हिस्सों में बेमौसम बारिश, आंधी बिजली गिरने से करीब 62 लोगों की मौत हो गई. असम में भी तूफान से तीन लोग घायल हो गए. यूपी, गुजरात  राजस्थान में फसलों को बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है. पीएम नरेंद्र मोदी ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये तथा घायलों को 50-50 हजार रुपये की सहायता की घोषणा की है. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बोला कि गवर्नमेंट बारिश से प्रभावित राज्यों में हरसंभव मदद के लिए तत्पर है.
वेस्ट उत्तर प्रदेश  एनसीआर भी पश्चिमी विक्षोभ की चपेट में रहा. महोबा में बिजली गिरने से उमेश (15) की मौत हो गई. वहीं, बारिश से आम  गेहूं की फसल को नुकसान पहुंचा है.बिजनौर  सहारनपुर में गेहूं की फसल बिछ गई. आम और लीची की फसल में बौर को नुकसान पहुंचा है. उधर, पूर्वांचल में भी गेहूं की फसल में खराबा हुआ है. आजमगढ़, मऊ, बलिया, मिर्जापुर, भदोही, सोनभद्र, चंदौली, जौनपुर, गाजीपुर  वाराणसी, आगरा, मथुरा, मैनपुरी में खेतों में खड़ी गेहूं की फसल चौपट हो गई.

राजस्थान में 24 की मौत 

तूफान  बारिश ने राजस्थान में भारी तबाही मचाई. यहां 24 लोगों की मौत हो गई. जयपुर, झालावाड़ और उदयपुर में चार-चार, राजसमंद, बूूंदी और जालोर में दो-दो तथा बारां, भीलवाड़ा, अलवर, हनमानगढ़, पाली और प्रतापगढ़ में अब तक 1-1 मौत हुई है. राज्य के राहत सचिव एटी पेडनेकर ने बताया कि पीड़ितों के परिजनों के लिए 4-4 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की गई है.

loading...

एमपी में 15, गुजरात में 10  महाराष्ट्र में 3 की मौत 

मध्यप्रदेश में 15 लोगों की मौत हो गई. अधिकारियों के अनुसार इंदौर, धार, शाजापुर में 3-3 लोगों की मौत हो गई. रतलाम में 2, अलीराजपुर, राजगढ़, सिहोर, छिंदवाड़ा जिले में 1-1 लोग मर गए. जबकि गुजरात में 10  महाराष्ट्र के नासिक में बिजली गिरने से 3 लोगों की जान चली गई. इधर, जम्मू में पस्सी गिरने से एक वाहन चालक सुभाष की मौत हो गई. बारिश से पंजाब में भी फसलों को नुकसान हुआ है.

बारिश-बर्फबारी से कांपा आधा हिमाचल

शिमला. पहाड़ों पर बर्फबारी एवं निचले इलाकों में बारिश के चलते अप्रैल माह में आधा हिमाचल ठंड से कांप गया है. भारी बारिश, तूफान  ओलावृष्टि के कारण सूबे के कई क्षेत्रों में फसलों को भारी नुकसान हुआ है. शिमला समेत प्रदेशभर में बारिश  रोहतांग के साथ विभिन्न पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी हुई है. शिमला, किन्नौर, लाहौल, डलहौजी, मनाली में पारा गिर गया.

बारिश  बर्फबारी से लौट आई ठंड

पहाड़ में बारिश  बर्फबारी का सिलसिला बुधवार को भी जारी रहा. बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री  हेमकुंड साहिब में हिमपात हुआ है. इधर, मुनस्यारी में हंसलिंग, राजरंभा, पंचाचूली  नाग्निधुरा चोटियों में बर्फबारी हुई. यहां भी फसलों को नुकसान पहुंचा है.

हरियाणा में फसलों को नुकसान 

रोहतक. प्रदेश के सभी जिलों में दोपहर बाद बारिश  आंधी चलने से गेहूं की फसल को बहुत ज्यादा नुकसान होने की संभावना है. कई जगहों पर जमकर ओले गिरे हैं. अन्न मंडियों में बारिश का पानी भरने गेहूं  सरसों की फसल भीग गई.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!