Breaking News

इस कारण आर्थिक संकट से जूझ रही है ये प्राइवेट सेक्‍टर की एयरलाइन, बैंक से है मदद की उम्‍मीद

आर्थिक संकट से जूझ रही प्राइवेट सेक्‍टर की एयरलाइन जेट एयरवेज की सेवा किसी भी वक्‍त ठप पड़ सकती है. हालांकि जेट एयरवेज को अब भी उम्‍मीद है कि बैंक एयरलाइन की मदद करेंगे. जेट एयरवेज की ओर से कहा गया कि भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की अगुवाई वाले बैंकों के गठजोड़ से आपात नकदी समर्थन का इंतजार है, जिससे वह अपनी सेवाओं में आ रही गिरावट को रोक सके. जेट एयरवेज ने कहा कि वह अपने निदेशक मंडल के साथ विचार विमर्श कर रही है. उसकी आपात नकदी के सहयोग के लिए कर्जदाताओं के साथ बातचीत चल रही है.

जेट एयरवेज की नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) और नागर विमानन मंत्रालय के साथ भी बातचीत जारी है. बता दें कि एयरलाइन अभी सिर्फ 5 विमानों का परिचालन कर रही है.

loading...

पीएनबी ने कहा- अभी कोई अंतिम फैसला नहीं

जेट एयरवेज के ऋणदाता एयरलाइन के पुनरोद्धार के लिए काम कर रहे हैं, लेकिन अभी कोई अंतिम फैसला नहीं हुआ है. पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक सुनील मेहता ने मंगलवार को यह बात कही. मेहता ने कहा, ”एयरलाइन को फिर खड़ा करने के लिए विचार विमर्श चल रहा है लेकिन अभी कोई अंतिम फैसला नहीं हुआ है.

एसबीआई कैपिटल मार्केट्स जेट एयरवेज के लिए पुनरोद्धार पैकेज पर काम कर रही है. ”बता दें कि पीएनबी भी भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाले उन 26 बैंकों के गठजोड़ का हिस्सा है, जिन्होंने जेट एयरवेज को 8,000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज दिया है.

उड़ानों की संख्‍या बढ़ाएगी एयरलाइन कंपनियां

बजट विमानन कंपनी इंडिगो ने मंगलवार को मुंबई-दिल्ली मार्ग पर उड़ानों की संख्या बढ़ाने की घोषणा की है. इंडिगो ने बयान में कहा कि वह 5 मई से मुंबई से दस अतिरिक्त उड़ानों का परिचालन करेगी. इसके अलावा नई दिल्ली से आठ अतिरिक्त उड़ानों का परिचालन करेगी.

वहीं स्‍पाइसजेट की ओर से भी अपने बेड़े में 90 सीट वाले पांच और बॉम्बार्डियर विमानों को शामिल करने की योजना है. इससे उससे घरेलू बेड़े में शामिल विमानों की संख्या 32 हो जाएगी.

10 घरेलू मार्गों पर किराया कम करने के निर्देश

इस बीच ग्राहकों के हितों का ध्‍यान रखते हुए नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने एयरलाइन कंपनियों से 10 घरेलू मार्गों पर हवाई यात्रा के किराए को कम करके उचित स्तर पर लाने को कहा है. दरअसल, वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज के परिचालन में कटौती, बोइंग 737 मैक्स विमानों की उड़ानों पर रोक से विभिन्न मार्गों पर संचालित उड़ानों की संख्या में कमी आई है.

ऐसे में इन मार्गों पर किराए 30 फीसदी तक बढ़ गए हैं. नागर विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला के मुताबिक- कीमतों की तुलना करने पर पाया गया है कि 10 मार्गों पर हवाई यात्रा किराए में 10 से 30 फीसदी की वृद्धि हुई है. एयरलाइन कंपनियों को इन मार्गों पर टिकटों की कीमतों को घटाकर ” उचित स्तर ” पर लाने के लिए कहा गया है.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!