Breaking News

इन बीमारियों को दूर करने के लिए डॉक्टर देते है ड्राइ फ्रूट खाने की सलाह

ऐसे कई लोग होते हैं जिन्हें हर तरह का ड्राइ फ्रूट पसंद आता है, लेकिन वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें गिने-चुने ड्राइ फ्रूट ही पसंद आते हैं। किसी को बादाम पसंद हैं, तो कोई काजू का शौकीन होता है। कोई मूंगफली बहुत खुशी से खाता है तो किसी को पिस्ता से प्यार है।डॉक्टरों के अनुसार हर ड्राइ फ्रूट में भारी मात्रा में प्रोटीन एवं अन्य आवश्यक विटामिन पाए जाते हैं, लेकिन आज हम यहां केवल काजू की बात करेंगे।

एक शोध के अनुसार दिन भर में अगर आप कुल 8 काजू खा रहे हैं, तो यह शरीर में खास प्रकार के बदलाव को लेकर आता है। ये 8 काजू किस तरह से हमारे लिए फायदेमंद हैं और किससे शरीर में क्या अंतर आता है, चलिए जानते हैं।शोध का सबसे पहला और महत्वपूर्ण परिणाम यह है कि अगर कोई व्यक्ति दिन में केवल 8 काजू खा रहा है तो उसे किसी भी अन्य दवा या शारीरिक कमजोरी को खत्म करने वाले ड्रग की जरूरत नहीं है। इसके अलावा दवाओं की तरह यह शरीर को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं देते।काजू खाने से आंखें स्वस्थ रहती हैं। अगर आपकी आंखें कमजोर हैं, तो दिन में कम से कम 4 काजू अवश्य खाएं। लेकिन काजू का और आंखों का क्या संबंध है?

loading...

अमरीका में हुए अंतरराष्ट्रीय शोध के दौरान काजू की एक विशेषता सामने आई, जिसके अनुसार काजू में विशेष प्रकार का एंटी आक्सीडेंट तत्व पाया गया जो आंखों को यूवी किरणों से बचाता है।आपको जानकर शायद खुशी होगी कि काजू खाने से मैटाबॉलिज्म लेवल मजबूत होता है। मैटाबॉलिज्म लेवल जितना मजबूत होगा, उतना ही मोटापा घटता है। तो अगर कोई मोटापे से छुटकारा चाहता है तो उसे दिन में 8 काजू अवश्य खाने चाहिए।

दिन में 8 काजू खाने वालों को कभी हार्ट संबंधी दिक्कत नहीं हो सकती। क्योंकि काजू में ‘पैल्मीटॉलेक और ऑलेक’ नामक दो तत्व पाए जाते हैं, जो दिल के स्वास्थ्य के लिए अच्छे माने गए हैं। ये दो ऐसे तत्व हैं जो बॉडी के कॉलेस्ट्राल लेवल को कम करते हैं।जिन्हें वजन कम करना है उन्हें काजू का यह गुण शायद पसंद ना आए, लेकिन शोधकर्ताओं के अनुसार एक सीमित दायरे में यदि रोज काजू का सेवन किया जाए तो यह बॉडी को आवश्यक कैलोरी देने के साथ-साथ मैटाबॉलिज्म को मजबूत कर वजन भी घटाता है।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!