Breaking News

कमरे में पड़ी खाट से आ रही थी आवाज़, कुआरी बेटी को इस हालत में देख युवक ने किया ये

ऐसा देखा गया है कि कुछ महिलाएं संबंध बनाते समय बेहद ही जोश में आ जाती हैं और इस कारण वो पुरुष के कंधे या पीठ को खरोंच देती हैं। दरअसल कुछ महिलाओं को यह आदत होती है जबकि कुछ ऐसा कभी-कभी करती हैं जब वे चरम स्थति को प्राप्त करती हैं। हालांकि महिलाओं के इस तरह के व्यवहार से पुरुषों को कई बार आश्चर्य हो जाता है और वो सोच में पड़ जाते हैं कि आखिर महिला करना क्या चाहती है।

दरअसल इस बारे में पुरुषों के भिन्न विचार हैं। जी हां, दरअसल कुछ पुरुषों को लगता है कि महिला की खरोंचने की आदत उनकी मानसिक स्थति दर्शाती है तथा कुछ तो ऐसी महिलाओं को मानसिक रूप से विकृत भी समझ बैठते हैं।

loading...

वहीं कुछ पुरुष ऐसा भी मानते हैं कि जब तक महिला खरोंचती नहीं तब तक वह वास्तव में संतुष्ट नहीं हुई है। हालाँकि इस तरह की अधिकांश सोच, गलत धारणाएं साबित होती हैं क्योंकि महिलाऔं के खरोंचने के पीछे कुछ अजीब से कारण भी होते हैं।

दरअसल एक्सपर्ट्स की मानें तो यह एक उत्तेजना का संकेत होता है। अगर वह आपको खरोंचती है, तो इसका मतलब हो सकता है कि वह आपके साथ आनंद ले रही है।

इसके अलावा ये भी एक वजह हो सकती जा की आप उससे काफ़ी समय से नहीं मिले और शायद उसने आपको केवल छूने के लिए बहुत लंबा इंतज़ार किया है। यही कारण है कि जब आपने इस प्रक्रिया के द्वारा उसके पूरे तंत्र को इतना रोमांचित किया कि वह आपको प्यार के कारण खरोंच देती है।

कई बार ऐसा होता है कि महिलाओं की सेक्स की इच्छा नहीं होती. ऐसे में अगर आपको सेक्स करना हो तो आपको पार्टनर को काफी मनाना पड़ता है. यानी महिलाओं की कामेच्छा बढ़ाने के लिए आपको कई जतन करने पड़ते हैं. इसमें कोई शक नहीं कि महिलाएं सेक्स इच्छा ज्यादा रखती हैं लेकिन महिलाओं में कामेच्छा नही हो तो कैसे बढ़ाए ये आप जान सकते हैं. कामेच्छा यदि किसी भी व्यक्ति में सामान्य लेवल से कम होती है तो जीवन में उसके लिए कई परेशानियां पैदा हो जाती हैं, लिबिडो नामक हार्मोन कामेच्छा बढ़ाने वाला ही एक हार्मोन होता हैं और मानव के अंदर में इसकी कमी होने से ही कामेच्छा की कमी हो जाती है.

एक्यूप्रेशर थेरैपी के दो ऐसे प्वाइंट बता रहें हैं जिसको पुश करने यानी दबाने से आप अपने लिबिडो हार्मोन की मात्रा को बढ़ा सकते हैं और इस तरह से आप अपनी कामेच्छा की कमी को दूर कर सकते हैं. महिलाओं की शिकायत यह रहती है कि रजोनिवृत्ति के बाद उनकी कामेच्छा कम हो जाती है ऐसा सिर्फ वजाइना के सूखेपन के कारण होता है, जिसके पीछे लिबिडो की कमी ही होती है.

* स्टमक प्वाइंट: पेट में नाभि के स्थान पर अपने हाथ की अंगुलियों से 4 से 5 मिनट तक थोड़ा पुश करते रहें और इसी प्रकार करते हुए नाभि से 2 अंगुली नीचे के स्थान पर जाए.

* किडनी प्वाइंट: लिबिडो हार्मोन के लिए भी यह किडनी प्वाइंट बहुत ज्यादा हेल्पफुल रहता है. इस एंगल पॉइंट पर आप हल्के से अपनी अंगुलियों के पोरो से पुश करें.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!