Breaking News

भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव पूर्ण स्थिति के बीच डरे हुए पाक ने फिर की ये घोषणा

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव पूर्ण स्थिति के बीच पाक ने घोषणा करते हुए कहा है कि वह सदभावना के तहत इसी महीने 360 भारतीय कैदियों को चार चरणों में रिहा करने वाला है। रिहा होने वाल कैदियों में ज्यादातर मछुआरे शामिल होंगे।

देश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि भारतीय मछुआरों को रिहा करने की प्रक्रिया 8 अप्रैल से आरंभ हो जाएगी।पहली बार में 8 अप्रैल को 100 मछुआरे रिहा किए जाने का निर्णय लिया गया है। 15 अप्रैल को दूसरे चरण में 100 और भारतीय छोड़े जाएंगे। 22 अप्रैल को तीसरे चरण में 100 और भारतीय रिहा किये जाएंगे और 29 अप्रैल को चौथे चरण में बाकी 60 कैदी मुक्त किए जाएंगे। उन्होंने यहां मीडिया को अपनी साप्ताहिक ब्रीफिंग में कहा, हम सद्भावना के तौर पर ऐसा कर रहे हैं और आशा करते हैं कि भारत सकारात्मक प्रतिक्रिया दिखाएगा। उन्होंने कहा कि फिलहाल भारत में 347 पाकिस्तानी कैदी हैं और पाकिस्तान में 537 भारतीय कैदी हैं। उन्होंने कहा, पाकिस्तान 360 भारतीय कैदियों को छोड़ेगा जिनमें 355 मछुआरे और पांच अन्य नागरिक हैं।

loading...

इन मछुआरों को कराची से लाहौर ले जाया जाएगा और फिर वाघा सीमा पर उन्हें भारतीय अधिकारियों के हवाले कर दिया जाएगा। भारत और पाकिस्तान अक्सर मछुआरों को गिरफ्तार कर लेते हें क्योंकि अरब सागर में समुद्री सीमा का स्पष्ट सीमांकन नहीं है तथा मछुआरों के पास उनकी नौकाओं में सटीक अवस्थिति जानने के लिए उपयुक्त प्रौद्योगिकी नहीं होती है।
मछुआरों को रिहा करने की पाकिस्तान की घोषणा दोनों देशों के बीच पुलवामा हमले के बाद बढ़े तनाव के बीच आई है। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे। उसके बाद भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में जैश के प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमला किया था।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!