Breaking News

अमरीका के प्रसिद्ध बुद्धिजीवी का कहना, विश्व में आतंकवाद का मुख्य स्रोत सऊदी अरब

अमरीका के प्रसिद्ध बुद्धिजीवी का कहना है कि ईरान, अमरीका के लिए सीधे रूप से खतरा नहीं है बल्कि ईरान परोक्ष या अपरोक्ष किसी भी रूप में अमरीका के लिए खतरा नहीं है।

पार्स टुडे डॉट कॉम के अनुसार, अमरीकी विचारक और शिकागो यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर जॉन मर्शायमर ने एक इन्टरव्यू में कहा है कि विश्व में आतंकवाद का मुख्य स्रोत, सऊदी अरब है और ईरान किसी भी देश के लिए खतरा नहीं है।

loading...

उन्होंने कहा कि ईरान के पास एटमी हथियार नहीं है और उसने विश्व शक्तियों के साथ एक एेसे समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं जिसके बाद उसके लिए इस प्रकार के हथियार बनाना संभव नहीं है।

मर्शायमर ने इस बात का उल्लेख करते हुए कि ईरान, क्षेत्र में भी किसी के लिए खतरा नहीं है कहा कि इस देश ने वर्तमान काल में एक बार भी किसी देश के खिलाफ सैन्य कार्यवाही नहीं की है और वर्तमान समय में भी कोई एेसा सुबूत नहीं है जिससे यह पता चले कि वह किसी पड़ोसी देश के खिलाफ कार्यवाही का इरादा रखता है।

उन्होंने कुछ पश्चिमी देशों, विशेषकर अमरीका द्वारा ईरान पर आतंकवाद के समर्थन के आरोपों का कड़ाई के साथ खंडन करते हुए कहा कि यदि कोई देश इस प्रकार के आरोपों का पात्र है तो वह सऊदी अरब है।

अमरीकी विचारक और शिकागो यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर जॉन मर्शायमर ने कहा कि यह अमरीका है जो ईरान के लिए सीधे रूप से खतरा है क्योंकि ट्रम्प सरकार इस्राईल और सऊदी अरब की नीतियों पर चलते हुए ईरान को निशाना बना रही है और इस देश में व्यवस्था बदलने की कोशिश कर रही है।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!