Breaking News

खुलासा : यहाँ ऐसी हालत में भी महिलाओं के स्तन से ऐसे निकाला जाता है दूध, ये है इसका राज़

ह्यूमन मिल्क बैंक की टीम मिल्क डोनेट करने वाली मां के घर जाकर दूध को मिल्क बैंक लाएंगे। इसके बाद पूरी प्रक्रिया का पालन कर दूध को सुरक्षित तरीके से बैंक में रखा जाएगा।

मदर मिल्क को मिल्क बैंक में करीब छह माह तक सुरक्षित रखा जा सकेगा। फोर्टिज हेल्थकेयर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी भवदीप सिंह ने बताया कि मिल्क बैंक के एक बोतल दूध की कीमत 150 से 200 रुपये होगी।
इस पहल से नवजात शिशुओं को मां का दूध मिल पाएगा, इस पहल से बच्चों में होने वाले संक्रमण को कम करने में मदद मिलेगी।

loading...

देश में 14 ह्यूमन मिल्क बैंक हैं

उन्होंने बताया कि किसी भी मां का दूध मिल्क बैंक में जमा करने से पहले उनकी चिकित्सीय जांच की जाएगी। चिकित्सीय जांच की प्रक्रिया पूरी करने के बाद ही उस मां का दूध लिया जाएगा।
हयूमन मिल्क बैंक की शुरुआत के दौरान चार मां भी उपस्थित थीं, जिन्होंने अपना दूध मिल्क बैंक में दान करने का निर्णय लिया है। वर्तमान में देश में 14 ह्यूमन मिल्क बैंक हैं।
इस अवसर पर ब्रेस्ट मिल्क फाउंडेशन के निदेशक डॉ.अंकित श्रीवास्तव ने बताया कि इस पहल से देश में नवजात मृत्यु दर में कमी लाने में मदद मिलेगी।

दिल्ली-एनसीआर में पहली बार ह्यूमन मिल्क (मां का दूध) बैंक की स्थापना की गई है। इस बैंक में मिल्क डोनेट करने के लिए 50 महिलाओं ने अपना पंजीकरण भी करा लिया है।

इस मिल्क बैंक से उन्हीं बच्चों के लिए दूध मिलेगा, जिनका जन्म समय पूर्व हुआ हो या जिनकी मां को दूध नहीं बन रहा हो। ह्यूमन मिल्क बैंक की शुरुआत ब्रेस्ट मिल्क फाउंडेशन और फोर्टिस लॉ फेमे ने मिलकर किया है।

फोर्टिज लॉ फेमे के नियोनेटोलॉजी निदेशक डॉ. रघुराम मल्लैया ने बताया कि दिल्ली-एनसीआर की मां मिल्क डोनेट कररने के लिए टोल फ्री नंबर 9999035600 पर कॉल कर पंजीकरण करा सकती हैं।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!