Breaking News

आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है केले का छिलका

बात अगर पसंदीदा फलों की हो और उनकी उपलब्धता की भी चर्चा हो तो केले का नाम सर्वप्रथम हमारे दिमाग में आता है. उत्तर भारत में केला आसानी से उपलब्ध होने वाला फल है.इस फल को हर उम्र के लोग खाना भी पसंद करते हैं. केले खाते वक्त हम इसे छिलते हैं उसके अंदर का गूदा खाकर, बाहर के छिलके को कूड़े के ढेर में फेंक देते हैं. लेकिन शायद आपको पता नहीं होगा कि केले का छिलका भी बेहद फायदेमंद होता है. केले के छिलके को कभी न फेंके यह बड़े काम की चीज होती है.

दांतों के लिए फायदेमंद

loading...

अगर आपके दांत पीले हो चुके हैं और आप महंगे से महंगे टूथपेस्ट का इस्तेमाल करके परेशान हैं. तो आपको यह जानकर हैरानी होगी कि आपके दांतो का पीलापन केले के छिलके से सही हो सकता है. इसके लिए आपको केले के छिलके के अंदर वाले हिस्से को दांतो पर लगाना है. कुछ दिन तक लगातार करने से आप अपने दांतो का फर्क साफ तौर पर देख सकेंगे. न सिर्फ पीलापन चला जाएगा बल्कि दातों से आने वाली बदबू में भी कमी आएगी.

मुहांसों में फायदेमंद

पिंपल के लिए आप महंगे-महंगे फेस वॉश और अंतरराष्ट्रीय स्तर की क्रीम का इस्तेमाल कर चुके होंगे. शायद आपको इनसे फायदा भी नहीं हो रहा होगा. चेहरे पर निकलने वाले पिंपल हर उपाय के बाद जस के तस बने रहते हैं. शायद आपको पता नहीं होगा कि केले के छिलके के अंदर वाले भाग को निकालकर अगर आप अपने चेहरे की मसाज करेंगे, तो चेहरे पर उभरे हुए सारे पिंपल्स छूमंतर हो जाएंगे. अगर आप ध्यान से महंगी क्रीमों के इंग्रेडिएंट्स के बारे में पढ़ेंगे तो शायद आप यह जान जाएंगे कि यहां भी केले के छिलके के अंदर वाले हिस्से का इस्तेमाल किया जाता है.

चेहरे की चमक के लिए

चेहरे पर चमक वापस लाने के लिए भी केले के छिलके का इस्तेमाल किया जाता है. आपको कच्चे दूध में केले के छिलके के अंदर वाले भाग को मिलाना है. जब आप इन दोनों को मिलाएंगे तो एक प्रकार का पेस्ट बन जाएगा. इस पेस्ट को अपने चेहरे पर 10 से 15 मिनट तक लगाकर रखना है. इसके बाद इसे ठंडे पानी से धो लेना है. चेहरे को धोते ही आप अपने चेहरे की खोई हुई चमक को वापस लौटते हुए महसूस करेंग. तो आगे से ध्यान रखें, केला खाएं और उसके छिलके का भी इस्तेमाल करें. यकीन मानिए केले आपको कभी महंगे नहीं लगेंगे.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!