Breaking News

बार-बार डकार आना इन बीमारियों का हो सकता है संकेत

डकार आना एक साधारण क्रिया है, जो किसी भी समय आ सकती है। आमतौर पर ऐसा माना जाता है कि डकार भोजन पच जाने का संकेत है। लेकिन वास्तविकता में ऐसा नहीं है। खाना खाते समय या उसके बाद बार-बार डकार लेने का मतलब है कि खाने के साथ ज्यादा मात्रा में हवा शरीर के अंदर चली गई है। जब हवा अंदर जाती है तो बाहर भी निकलती है, जिसे हम डकार कहते हैं। यह पेट से गैस के बाहर निकलने का एक प्राकृतिक तरीका है और अगर पेट से हवा बाहर न निकले तो यह पेट से संबंधित कई समस्याओं को जन्म दे सकती है। लेकिन अगर डकार ज्यादा आए तो ये कई बार कुछ बीमारियों का संकेत भी हो सकता है।


डाइजेशन का संतुलन बिगड़ने पर आती है डकार
डॉ. अभिषेक पांडेय की मानें तो पाचन खराब होने से कब्ज या बदहजमी की प्रॉब्लम हो जाती है। डाइजेशन में मदद करने वाले कुछ बैक्टीरिया पेट में मौजूद होते हैं। इनका संतुलन बिगड़ने पर भी गैस बनती है और डकार आती है। बार-बार डकार आने से एसिड रिफ्लक्स, एसिडिटी और कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं।

loading...

इरिटेबल बाउल सिंड्रोम
इस बीमारी में रोगी को कब्ज, पेट दर्द, मरोड़ व दस्त आदि हो सकते हैं। साथ ही इस रोग का एक बड़ा लक्षण बहुत ज्यादा डकार आना भी होता है। इस समस्या के अलावा पेप्टिक अल्सर के कारण भी ज्यादा डकार आ सकती है।

बार-बार डकार आने की समस्या
कुछ भी खाने के बाद डकार आना डाइजेशन के प्रोसेस का एक अहम हिस्सा है, लेकिन बार-बार डकार आने के पीछे कई दूसरे कारण भी हो सकते हैं। बार-बार डकार आने से ऐसिड रिफ्लेक्स, ऐसिडिटी और कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, उन गलत आदतों के बारे में जिसकी वजह से बार-बार डकार आने की समस्या हो सकती है…

बार-बार डकार आने की समस्या
कई लोग जल्दी-जल्दी, बड़े-बड़े कौर लेकर खाते हैं। इसके कारण डाइजेशन पर असर पड़ता है और ज्यादा डकार आती है।

बार-बार डकार आने की समस्या
खाते समय या जम्हाई लेते समय ज्यादा मुंह खोलने से पेट में ज्यादा हवा चली जाती है। इससे बार-बार डकार आ सकती है।

बार-बार डकार आने की समस्या
डाइजेशन खराब होने के कारण कब्ज या बदहजमी की प्रॉब्लम हो जाती है। इससे पेट में गैस बनने लगती है और डकार आती है। डाइजेशन में मदद करने वाले कुछ बैक्टीरिया पेट में मौजूद होते हैं। इनका बैलेंस बिगड़ने पर भी गैस बनती है और डकार आती है।

बार-बार डकार आने की समस्या
पेट खाली होने के कारण पेट की खाली जगह में हवा भर जाती है। यह हवा डकार के जरिए बाहर निकलने की कोशिश करती है।

बार-बार डकार आने की समस्या
कार्बोनेटेड ड्रिंक्स, जंक फूड, गोभी, मटर, दालें जैसे कई फूड पेट में गैस बनाते हैं। इन्हें खाने-पीने के बाद भी ज्यादा डकार आती है।

बार-बार डकार आने की समस्या
स्मोकिंग करने वाले सिगरेट के धुएं के साथ ढेर सारी हवा अंदर खींचते हैं। पेट में भरी यह हवा डकार के जरिए बाहर निकलती है।

बार-बार डकार आने की समस्या
अच्छे से फिट नहीं होने के कारण नकली दांतों के बीच गैप बन जाता है। कुछ खाने-पीने के दौरान ज्यादा हवा पेट में चली जाती है और इससे भी बार-बार डकार आने की समस्या होती है।

बार-बार डकार आने की समस्या
कई बार स्ट्रेस और टेंशन के कारण कुछ लोग ओवरईटिंग कर लेते हैं जिससे डाइजेशन की प्रोसेस स्लो हो जाती है। इससे भी बार-बार डकार आती है।

बार-बार डकार आने की समस्या
पेट की कुछ बीमारियां जैसे- लैक्टोज इन्टॉलरेंस, इरिटेबल बाउल सिंड्रोम, अल्सर जैसी बीमारियों के कारण गैस बनती है और डकार आती है।

कब्ज या बदहजमी
जिन लोगों को बहुत ज्यादा डकार आती है, उनमें से लगभग 30 प्रतिशत लोगों को कब्ज की समस्या होती है। यह समस्या होने पर खाने में पर्याप्त मात्रा में फाइबर को शामिल करें। इसके अलावा बदहजमी के कारण भी ज्यादा डकार आती है।

डिप्रेशन
तनाव कई समस्याओं का कराण होता है। तनाव या किसी बड़े भावनात्मक परिवर्तन का प्रभाव हमारे पेट पर भी पड़ता है। लगभग 65 प्रतिशत मामलों में मूड में त्वरित व बड़ा बदलाव या तनाव का बढ़ना ज्यादा डकार आने का कारण बनता है।

ऐरोफेजिया
अकसर ऐसा होता है कि हम खाना खाते समय ज्यादा हवा पेट के अंदर ले लेते हैं तो डकार आने लगती है। ऐसी स्थिति को ऐरोफेजिया कहते हैं। इस समस्या से बचने के लिए छोटे निवाले लें और मुंह बंद करके धीरे-धीरे खाने को चबा कर निगलें।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!