Breaking News

भोपाल: घर में मिली परिवार के 4 लोगों की लाश, मामले में आया नया मोड़

मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मंडीदीप क्षेत्र के हिमांशु सिटी में एक घर के अंदर 4 लाशें बरामद हुई हैं. परिवार के मुखिया सन्नू की पत्नी पूर्णिमा उनकी सास दीपमाला, छोटी बेटी और सन्नू के 11 साल के साले की मौत हो चुकी थी और उनके मुंह से झाग भी निकल रहा था. हालांकि सन्नू की सांसे चल रही थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इस मामले में अब एक नई कहानी सामने आ रही है.

घर में मिली 4 लाशों का पोस्टमार्टम शुरू हो गया है और पोस्टमार्टम में एडिशनल रैंक के अधिकारियों की मौजूदगी में किया जा रहा है. हालांकि इस मामले में अभी पुलिस और डॉक्टर कुछ भी कहने से बच रहे हैं. बावजूद इसके पुलिस का कहना है कि घर के अंदर सिगड़ी जलाई जाती थी और उसमें रेलवे कि कोयले का प्रयोग किया जाता था, जिसके चलते कार्बन मोनोऑक्साइड गैस इसकी वजह भी मानी जा रही है. फिलहाल पुलिस ने पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही इस पूरे मामले में खुलासा करने की बात कही है.

loading...

दरअसल मृतक की परिजन यानी परिवार के मुखिया सन्नू की मौसी सास का यह कहना है कि सन्नू और उनकी बहन की बेटी ने प्रेम विवाह किया था. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि परिवार के अंदर किसी प्रकार की विवाद की स्थिति नहीं थी, और ना ही कभी उनके परिजनों ने इस बारे में उन्हें बताया. उन्होंने यह भी कहा कि जब वह अस्पताल में सन्नू से मिलकर आई तो वह कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं था और सिर्फ बार-बार गुटका मांग रहा था.

हालांकि रायसेन पुलिस का कहना है कि मामला अभी काफी उलझा हुआ है. क्योंकि परिवार के चार लोगों की मौत हो गई है. और एक व्यक्ति का इलाज चल रहा है. उनका कहना है कि परिवार का मुखिया सन्नू अभी कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं है, और जब तक डॉक्टर अपनी रिपोर्ट नहीं देंगे तब तक इस मामले में कुछ भी कहना गलत होगा. लाश के मुंह से निकले झाग के बाद इसे जहर से जोड़कर भी देखा जा रहा है. पुलिस का कहना है कि इस मामले पर जल्द ही स्पष्ट हो पाएगा कि आखिर इस घटना का कारण क्या है.

इस घटना में अब आरोप भी लगना शुरू हो गए हैं. दरअसल मृतका की बहन यानि परिवार के मुखिया सन्नू की मौसी सास ने मांग की है कि पुलिस इस बात पर भी जांच करें कि आखिर सभी की मौत क्यों हो गई लेकिन सन्नू जिंदा क्यों है. उनका साफ कहना है कि सन्नू ने ही पूरे परिवार को जहर दिया है. उन्होंने यह भी कहा कि इस घटना के वक्त ताले अंदर से लगे हुए थे.

वहीं सन्नू के पड़ोसी नितिन चौहान ने बताया कि परिवार के अंदर विवाद की कोई स्थिति नहीं थी, और ना ही कभी किसी को ऐसा अंदेशा था कि यह स्थिति निर्मित होगी. नितिन का कहना है कि परिवार के सदस्यों के बीच भी कभी लड़ाई झगड़े जैसी बातें सामने नही आई. और ना ही वह आर्थिक स्थिति से जूझ रहा था.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!