Breaking News

हलवा सेरेमनी के साथ शुरू हुई बजट की तैयारी

एक फरवरी को मोदी गवर्नमेंट की तरफ से अंतिरम बजट पेश किया जाएगा हर वर्ष परंपरा के मुताबिक बजट (General Budget 2019) पेश करने से कुछ दिन पहले ‘हलवा सेरेमनी’ का आयोजन किया जाता है इस प्रोग्राम का मतलब होता है कि बजट के लिए जो मसौदा तैयार किया गया है उसकी प्रिंटिंग अब प्रारम्भ हो गई है इस प्रोग्राम में वित्तमंत्री अरुण जेटली नहीं दिखे उनकी गैर मौजूदगी में वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला, वित्तीय मामलों के आर्थिक सचिव सुभाष गर्ग  सड़क परिवहन राज्यमंत्री राधाकृष्ण हलवा खाते दिखे

इस प्रोग्राम के बाद बजट (Budget 2019) से संबंधित जितने भी ऑफिसर  मंत्री हैं वे वित्त मंत्रालय के कार्यालय में बंद हो जाते हैं बजट पेश होने तक किसी को बाहर निकलने की इजाजत नहीं होती है यहां तक कि वे अपने घरवालों से भी संपर्क नहीं कर सकते हैं इसके तहत नॉर्थ ब्लॉक में बने प्रिंटिंग प्रेस में अगले कुछ दिनों तक वित्त मंत्रालय के करीब 100 कर्मचारी रहते हैं इनमें से कोई भी फोन पर भी बाहरी संसार से संपर्क नहीं कर सकता है केवल एक लैंडलाइन लगी होती है जिसपर इनकमिंग कॉल की सुविधा होती है

loading...

इन लोगों के लिए डॉक्टरों की एक पूरी टीम हमेशा तैनात होती है इंटरनेट कनेक्शन काट दिया जाता है  मोबाइल नेटवर्क को जैमर की मदद से जाम कर दिया जाता है बाहर से किसी को जाने की इजाजत नहीं है ऐसे में अगर किसी इमरजेंसी में अगर बाहर से किसी को अंदर जाना हो तो सुरक्षाबलों की मौजूदगी में उसे अंदर ले जाया जाता है इसके साथ ही जहां प्रिंटिंग का कार्य होता है वहां भी केवल कुछ ही अधिकारियों को जाने की इजाजत होती है

उम्मीद की जा रही है कि इस बजट में मोदी गवर्नमेंट मीडियम क्लास को राहत दे सकती है इनकम टैक्स छूट की सीमा बढ़ाई जा सकती है वर्तमान में यह छूट 2.5 लाख है जिसे बढ़ाकर 5 लाख किया जा सकता है इसके अतिरिक्त कर की दरों में भी परिवर्तन किया जा सकता है

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!