Breaking News

डोनाल्ड ट्रम्प ने दिया शटडाउन खत्म करने का प्रस्ताव

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शटडाउन खत्म करने के लिए एक प्रस्ताव दिया है। हालांकि प्रस्ताव को लेकर ट्रम्प बहुत खुश नहीं हैं। इसके तहत राष्ट्रपति ने 7 लाख अवैध अप्रवासियों की सुरक्षा की बात कही है। इसके बदले में वह चाहते हैं कि अमेरिका-मैक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के लिए 5.7 बिलियन डॉलर (करीब 40 हजार करोड़ रुपए) दिए जाएं।

डेमोक्रेट्स ने ट्रम्प का प्रस्ताव यह कहकर खारिज कर दिया कि यह कामयाब हो ही नहीं सकता। साथ ही राष्ट्रपति से अपील की कि सरकार को सभी विभागों को कामकाज शुरू करना चाहिए। करीब एक महीने से सरकार आंशिक रूप से शटडाउन पर है।

loading...

ट्रम्प ने व्हाइट हाउस से अपनी एक टीवी स्पीच में कहा- अमेरिका में बसने के लिए आ रहे 7 लाख लोगों को सुरक्षा प्रदान की जाएगी। इन लोगों को ड्रीमर्स (अमेरिका में सपने लेकर आने वाले) करार दिया जाता है। साथ ही 3 लाख लोगों को टेम्परेरी प्रोटेक्टेड स्टेटस दिया जाएगा। ये लोग दूसरे में देशों से हिंसा या प्राकृतिक आपदा के चलते विस्थापित होकर अमेरिका में रहने आए हैं।

ट्रम्प ने स्पीच में संसद से लोगों की मदद के लिए 800 मिलियन डॉलर और बंदरगाहों पर ड्रग डिटेक्शन टेक्नोलॉजी लगाने के लिए 805 मिलियन डॉलर देने की मांग की। उन्होंने कानून सख्त करने समेत सीमा पर सुरक्षा बढ़ाए जाने का भी प्रस्ताव दिया। ट्रम्प ने कहा कि राहत दिए जाने से लोगों का सरकार पर भरोसा बढ़ेगा और इस इमिग्रेशन रिफॉर्म की शुरुआत होगी।

बीते 29 दिन से अमेरिकी सरकार शटडाउन पर है। अमेरिका के इतिहास में यह सबसे लंबा शटडाउन है। दरअसल ट्रम्प की अगुआई में रिपब्लिकंस और हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव की अगुआई में डेमोक्रेट्स एकजुट हो गए हैं। डेमोक्रेट्स सरकार को दीवार के लिए फंड देने के पक्ष में नहीं हैं। इसी के चलते फेडरल सरकार के करीब 8 लाख कर्मचारी आंशिक रूप से काम नहीं कर रहे।

ट्रम्प ने शटडाउन खत्म करने की अपील की। उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों (रिपब्लिकंस और डेमोक्रेट्स) को साथ आना चाहिए। यह उन गंभीर आवाजों से हमारे भविष्य को पुनः हासिल करने का समय है जो समझौता करने और खुली सीमाओं की मांग करने से डरते हैं। वे मानते हैं कि इससे ड्रग्स डालना, मानव तस्करी और अपराध होंगे।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!