Breaking News

सोशल मीडिया पर ऑस्ट्रेलियाई ‘बियर के इश्तेहार’, जिस पर छापी हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरें

सोशल मीडिया पर ऑस्ट्रेलियाई ‘बियर के इश्तेहार’ की एक कॉपी शेयर की जा रही है जिसपर हिंदुओं के देवता गणेश की तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है.

दक्षिण भारत के कई व्हॉट्सऐप ग्रुप्स में इस वायरल विज्ञापन को ये कहते हुए शेयर किया गया है कि इस तरह से मदिरा की बोतल पर हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों का इस्तेमाल कर हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुँचाई जा रही है.

loading...

कुछ ट्विटर यूज़र्स ने इस तस्वीर को ट्वीट करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज समेत कई अन्य बड़े नेताओं से अपील की है कि वो इसके ख़िलाफ़ शिकायत करें और बोतल के लेबल पर लगी गणेश की तस्वीर को हटवाने का प्रयास करें.

बहुत से लोगों ने इस विज्ञापन के साथ ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधानमंत्री मैल्कम टर्नबुल को भी टैग किया है और उनसे विज्ञापन जारी करने वाली कंपनी के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने की अपील की है.

वायरल विज्ञापन के अनुसार ऑस्ट्रेलिया की ब्रुकवेल यूनियन नाम की बियर कंपनी जल्द कोई नया ड्रिंक ला रही है जिसपर भगवान गणेश की तस्वीर है और हॉलीवुड फ़िल्म ‘पायरेट्स ऑफ़ कैरेबियन’ की तर्ज़ पर उनका हुलिया बदल दिया गया है.

सोशल मीडिया पर कई लोग ऐसे भी हैं जो इस विज्ञापन को सही मानने को तैयार नहीं है. उनकी राय है कि किसी ने इस विज्ञापन के साथ छेड़छाड़ की है.

लेकिन अपनी पड़ताल में हमने इस विज्ञापन को सही पाया. ब्रुकवेल यूनियन नाम की ऑस्ट्रेलियाई बियर कंपनी जल्द एक ड्रिंक लेकर आ रही है जिसकी बोतल पर गणेश की तस्वीर का इस्तेमाल किया जाएगा.

पुराना विवाद

ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स (सिडनी) में स्थित ये कंपनी साल 2013 में भी बियर की बोतलों पर गणेश और लक्ष्मी की तस्वीर इस्तेमाल करने को लेकर विवादों में रह चुकी है.

उस समय कंपनी ने बोतल पर देवी लक्ष्मी की तस्वीर लगाई थी और उनके सिर को गणेश के सिर से बदल दिया था. बोतल पर गाय और ‘माता के शेर’ को भी छापा गया था.

‘द टेलीग्राफ़’ की रिपोर्ट के अनुसार साल 2013 में इस विवादित विज्ञापन पर एक तथाकथित अंतरराष्ट्रीय हिंदू संगठन ने आपत्ति दर्ज कराई थी और कहा था कि पैसे कमाने के लिए हिंदुओं की धार्मिक भावना का मज़ाक उड़ाना गिरी हुई हरक़त है और इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता.

इस रिपोर्ट के अनुसार हिंदू संगठन ने ब्रुकवेल यूनियन के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई करने की भी बात कही थी.

समाचार एजेंसी ‘पीटीआई’ के अनुसार ऑस्ट्रेलिया में रह रहे भारतीय समुदाय के लोगों ने कंपनी द्वारा देवी लक्ष्मी का फ़ोटो इस्तेमाल किये जाने की मुख़ालफ़त की थी और विवाद बढ़ता देख बियर कंपनी ने एक बयान जारी कर भारतीय समुदाय के लोगों से माफ़ी मांगी थी.

‘डेली टेलीग्राफ़’ ने अपनी रिपोर्ट में कंपनी का बयान छापा था जिसमें लिखा था, “हम लड़ने वाले नहीं, प्यार करने वाले लोग हैं. हमें लगता है कि ना चाहते हुए भी हमने अपने हिंदू साथियों की धार्मिक आस्था को ठेस पहुँचाई है. हम फ़ीडबैक ले रहे हैं. कुछ नए डिज़ाइन भी ढूंढ रहे हैं. हमारी कोशिश होगी कि हम जल्द से जल्द बोतलों की नई ब्रांडिंग और नया डिज़ाइन तैयार करवाएं.”

हिंदू संगठनों की कोशिशें

कुछ रिपोर्ट्स में ये भी लिखा गया था कि बियर कंपनी की वेबसाइट पर गणेश की प्रतिमा उड़ती हुई दिखाई देती है जिसका चेहरा बीच-बीच में भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के चेहरे में तब्दील हो जाता है.

बियर की बोतलों पर से देवी-देवताओं की तस्वीरों को हटवाने के लिए कई ऑनलाइन पिटीशन भी दायर किये जा चुके हैं.

साल 2015 में भी कुछ धार्मिक संगठनों ने ऑस्ट्रेलिया में विज्ञापनों पर नज़र रखने वाली संस्था से ‘ब्रुकवेल यूनियन’ की शिक़ायत करने की बात कही थी.

संगठन ने कहा था कि “शिक़ायत करने के दो साल बाद भी बियर कंपनी अपनी बोतलों पर आपत्तिजनक लेबल लगा रही है. इनकी बोतलों पर और उनकी वेबसाइट पर हिंदुओं के देवी-देवताओं की तस्वीरें लगीं हैं. इसपर तुरंत रोक लगनी चाहिए.”

हालांकि ब्रुकवेल यूनियन ने अभी तक अपनी बियर की बोतलों के लेबल में और वेबसाइट पर लगी तस्वीरों में कोई बदलाव नहीं किया है.

हमने मेल के ज़रिए कंपनी से ये सवाल पूछा था कि क्या वो निकट भविष्य में बोतलों की पैकिंग बदलने वाले हैं? कंपनी ने इसका कोई जवाब नहीं दिया.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!