Breaking News

इस प्रोजेक्ट के तहत झोपड़पट्टी वालोँ को मिलेगा फ्री में घर

मुंबई के सबसे बड़े स्लम क्षेत्र धारावी की तस्वीर बदलने वाली है धारावी के रीडेवलपेमेंट के लिए महाराष्ट्र गवर्नमेंट बहुत ज्यादा दिनों से प्रयास में है अब रीडेवलपमेंट के लिए दो बड़ी कंपनियों ने दिलचस्पी दिखाई है पहली कंपनी है अदानी इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपमेंट प्राइवेट लिमिटेड  दूसरी है दुबई की SECLINK. फिल्हाल दोनों कंपनियों के टेक्निकल  फाइनेंशियल पक्षों की जांच होना बाकी है अगर सब कुछ सही रहता है तो जल्द ही धारावी के रीडेवलपमेंट की प्रक्रिया प्रारम्भ हो जाएगी

बनेंगे 70 हजार घर
रीडेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत दोनों कंपनियों को लगभग 70 हजार परिवारों को घर बनाकर देना होगा जिस जमीन पर फ्लैट बनेंगे, उन्हें चार मंजिला तक बनाने की इजाजत होगीजिन लोगों की झोपड़पट्टी है, उन्हें घर फ्री में मिलेगा बाकी जो घर बचेंगे, कंपनियां उन्हें बाजार रेट पर दूसरों को बेच सकेंगी घर का कारपेट क्षेत्र कम से कम 350 वर्गफुट का होगा  ये प्रोजेक्ट 7 वर्ष के भीतर पूरा करना होगा

loading...

 15 वर्ष के इंतजार के बाद #Dharavi री-डेवलपमेंट के लिए लगी बोली, री-डेवलपमेंट के लिए 2 कंपनियों ने दिखाई दिलचस्पी.

2016 में निकाया गया था टेंडर
धारावी के रीडेवलपमेंट का किस्सा बहुत ज्यादा पुराना है इसके लिए 2016 में ही टेंडर निकाला गया था, लेकिन उस वक्त डेवलपर्स ने कुछ खास दिलचस्पी नहीं दिखाई ऐसे में नवंबर 2018 में एक बार फिर टेंडर निकाला गया राज्य गवर्नमेंट ने टेंडर में देशी-विदेशी कंपनियों को बोली लगाने का न्योता दिया दो बार बोली लगाने की समयसीमा बढ़ाई गई, जिसमें अदानी इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपमेंट प्राइवेट लिमिटेड  दुबई की SECLINK ने बोली लगाई अब आगे इस बोली की टेक्निकल  फाइनेंशियल जांच होगी

बनेगी SPV
किसी एक बिल्डर के जिम्मे प्रोजेक्ट को छोड़ने के बजाय राज्य गवर्नमेंट ने इस बार SPV यानी स्परेशल परपज़ व्हीकल का रास्ता अपनाया है इस तरह नयी कंपनी में राज्य गवर्नमेंट100 करोड़ डालेगी  SPV की मुख्य पार्टनर कंपनी 400 करोड़ रुपए खर्च करेगी 240 हेक्टेयर में फैली धारावी मुंबई में अफोर्डेबल हाउसिंग के लिए एक वरदान साबित हो सकती हैमुम्बई में ज़मीन की किल्लत है ऐसे में धारावी की प्राइम लोकेशन पर रीडेवपलमेंट होता है, तो बहुत ज्यादा लोगों को सस्ते घर खरीदने का मौका मिल जाएगा

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!