Breaking News

भारतीय विश्वविद्यालयों ने विश्व रैंकिग में किया सुधार

इस वर्ष टाइम्स हायर एजुकेशन की प्रतिष्ठित ‘इमर्जिंग इकोनॉमी यूनिवर्सिटी रैंकिंग’ में भारत के 49 संस्थानों को जगह मिली है। इन 49 में से 25 संस्थान शीर्ष 200 में जगह बनाने में सफल रहे हैं। लंदन स्थित ‘टाइम्स हायर एजुकेशन’ के अनुसार, 2019 की सूची में सबसे अधिक जगह पाने वाला देश चीन रहा, जिसकी शिगुआ यूनिवर्सिटी ने शीर्ष स्थान हासिल किया है, तो वहीं सूची के शीर्ष पांच में से चार संस्थान चीन के ही हैं। टाइम्स हायर एजुकेशन (टीएचई) उच्च शिक्षा पर डेटा एकत्र करने, उनका विश्लेषण करने और उस पर विशेषज्ञता हासिल करने वाला एक वैश्विक संगठन है, जो हर साल अलग-अलग स्तरों पर शिक्षा जगत से जुड़ी कई रैंकिग जारी करता है।

इस सूची में भारत के भारतीय विज्ञान संस्थान ने 14वाँ स्थान हासिल किया है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बॉम्बे 27वें नंबर पर रहा। हालांकि, दोनों इस साल एक स्थान पीछे खिसक गए, जिसका मुख्य कारण बढ़ती प्रतिस्पर्धा है। 2019 की रैंकिग में चारों महाद्बीपों के 43 देशों के लगभग 450 विश्वविद्यालयों को जगह मिली है। पिछले साल इन विश्वविद्यालयों की संख्या 378 थी। इस वर्ष की तालिका भारत के लिए एक मिली-जुली तस्वीर प्रस्तुत करती है। इसमें तेजी से प्रगति कर रहे कई नए संस्थानों को प्रवेश मिला है, जबकि कई संस्थान आगे या पीछे हो गए। संगठन ने कहा कि भारत ने 2018 में 42 संस्थानों की तुलना में इस साल सूची में 49 विश्वविद्यालयों के जगह हासिल करने के साथ ‘टाइम्स हायर एजुकेशन इमर्जिंग इकोनॉमी यूनिवर्सिटी रैंकिग’ में अपना प्रतिनिधित्व बढ़ाया है। संगठन ने कहा कि शीर्ष 200 में भारत के 25 विश्वविद्यालय शामिल हैं।

loading...

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की, हालांकि, 21 स्थानों की लंबी छलांग लगाकर शीर्ष 40 में जगह हासिल करने में सफलता रहा। वह अब 35 वें स्थान पर पहुंच गया है। भारत की तरफ से सूची में नए प्रवेश पाने वालों में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान इंदौर ने 61वां स्थान पाया है, तो वहीं जेएसएस उच्च शिक्षा और अनुसंधान अकादमी ने संयुक्त रूप से 64वां स्थान हासिल किया है। हालांकि, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय और अमृता विश्वविद्यालय दोनों ने इस साल शीर्ष 150 में जगह बनाई है, जबकि भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान, पुणे तथा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान हैदराबाद को पहली बार इस सूची में शामिल किया गया है। बहरहाल, सूची में सबसे अधिक प्रतिनिधित्व पाने वाले देश चीन के 72 संस्थानों इसमें शामिल हैं। टाइम्स हायर एजुकेशन के ग्लोबल रैंकिग एडिटर एली बोथवेल ने कहा, भारतीय संस्थानों में सफलता की अपार संभावनाएं हैं – न केवल उभरते हुए मंच पर, बल्कि विश्व स्तर पर भी वे प्रगति कर रहे हैं।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!