Breaking News

खूबसूरत त्वचा पाने के लिए इन दिनों तेजी से चल रहा फायर थेरेपी का ट्रेंड

त्वचा को सुंदर और जवां बनाए रखने के लिए ब्यूटी सलून और स्पा में कई तरह की थेरेपी देने का चलन बढ़ गया है। उन्हीं में से एक थेरेपी है फायर थेरेपी। इसका ट्रेंड भारत में नहीं, बल्कि वियतनाम में इन दिनों लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। वियतनामी सलून और स्पा में यह नई थेरेपी है, जिसे पुरुष और महिलाएं अपने चेहरे को जवां और आकर्षक बनाने के लिए चेहरे और शरीर पर आग भी रखवाने के लिए तैयार हैं।

कैसे की जाती है फायर थेरेपी
फायर थेरेपी में चेहरे पर एक तौलिया रखा जाता है। फिर उस पर आग लगाई जाती है। तौलिए पर आग लगाने के बाद इसे लगभग 30 सेकंड से लेकर एक मिनट तक शरीर या चेहरे पर रखा जाता है। ऐसा दावा किया जा रहा है कि इस थेरेपी से त्वचा की खूबसूरती बढ़ने के साथ ही सिरदर्द, अनिद्रा, शरीरिक दर्द जैसी समस्‍याओं से छुटकारा मिलती है। इससे पाचन तंत्र भी दुरुस्त रहता है।

loading...

अपनाई जाती है खास टेक्नीक
फायर ट्रीटमेंट के लिए एक खास तकनीक अपनाई जाती है। इसमें सबसे पहले तौलिए पर अल्कोहल छिड़का जाता है। उसके बाद तौलिए से चेहरे को अच्‍छी तरह से ढंक दिया जाता है। लोगों की त्वचा को सुरक्षित रखने के लिए सबसे पहले चेहरे को एक तौलिए से ढका जाता है। उसके बाद अल्कोहल वाले तौलिए को ऊपर से रखा जाता है। अब तक इस स्किन ट्रीटमेंट से किसी को भी नुकसान होने की खबर नहीं मिली है।

क्या होता है असर
थेरेपिस्‍ट के अनुसार, इस फायर ट्रीटमेंट से चेहरे की कोशिकाओं में वाइब्रेशन उत्तपन्न होता है, जिससे कोशिकाएं जीवंत हो जाती हैं। आपकी त्वचा खूबसूरत और ग्लोइंग नजर आती है। इस ट्रीटमेंट में जिस अल्कोहल का यूज किया जाता है, उसे स्पेशल एलिग्जर कहा जाता है।

झुर्रियों का भी होता है इलाज
कुछ रिपोर्ट्स की मानें तो फायर थेरेपी से त्वचा की झुर्रियां भी कम होने लगती हैं। यह थेरेपी चेहरे के साथ-साथ शरीर के किसी भी हिस्‍से पर दी जाती है। थेरेपिस्ट का कहना है कि इससे मोटापे और बुखार का इलाज भी संभव है। चीन में इसे फ्लेम फेशियल (हुओ लियाओ) कहते हैं।

सुरक्षित है यह थेरेपी? 
हालांकि, इस तरह की थेरेपी खतरनाक साबित हो सकती है, पर थेरेपिस्‍ट का कहना है कि ये ट्रीटमेंट पूरी तरह से सुरक्षित है, क्योंकि इसे प्रशिक्षित थेरेपिस्ट ही देते हैं। तौलिए के ऊपर कितनी मात्रा में अल्कोहल का इस्तेमाल करना है और कितनी देर त्वचा पर रखना है, ये सब पहले से ही निश्चित होता है। इससे त्वचा को गरमाहट मिलती है और किसी भी तरह की कोई जलन नहीं होती।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!