Breaking News

बंगलूरू में भारतीय इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस के बाहर वैज्ञानिक व खोजकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

कई इंडियन संस्थानों के प्रख्यात वैज्ञानिकों  खोजकर्ताओं ने विज्ञान को लेकर किए तर्कहीन दावों की आलोचना की है. ये दावे दो वैज्ञानिकों ने जालंधर स्थित भारतीय साइंस कांग्रेस पार्टी (आईएससी) में किए थे. इस मामले पर रविवार को भी कुछ वैज्ञानिक  खोजकर्ताओं ने बंगलूरू में भारतीय इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस के बाहर प्रदर्शन किया. हालांकि प्रदर्शन का उपाय बेहद शांत था.

मामले पर ब्रेकथ्रो साइंस सोसाइटी (बीएसएस) कर्नाटक की सेक्रेटरी रजनी केएस का कहना है, “2015 में हुए मुंबई सेशन के बाद हमने आईएससी असोसिएशन के अध्यक्ष से मुलाकात की थी  अपनी चिंताओं पर आधारित एक याचिका सौंपी थी. लेकिन फिर भी वही वस्तु होती गई. लोगों को आयोजकों से पूछना चाहिए कि वह कैसे इजाजत दे सकते हैं.

बीएसएस अब सोमवार को हिंदुस्तान के कई शहरों में प्रदर्शन करेगा. आंध्रा विश्विद्यालय के बाहर भी प्रदर्शन किया जाएगा क्योंकि वहां के वीसी जी नागेश्वर राव ने बोला था कि कैरवों का जन्म स्टेम सेल तकनीक के जरिए हुआ  रावण के पास 24 तरह के हवाई जहाज थे.

loading...

रजनी ने कहा, “हम 10 से भी अधिक शहरों में प्रदर्शन करेंगे. यह महत्वपूर्ण है कि हम लोगों को बताएं कि ऐसे दावों की आईसीएस जैसे कार्यक्रमों में कोई स्थान नहीं है.” ऑल इंडिया कमिटि  बीएसएस की ओर से जारी बयान में बोला गया है, “यह पूरी तरह से परेशान करने वाला है कि ऐसे दावे आईएससी के चिल्ड्रन साइंस कांग्रेस पार्टी सेशन में किए गए. जहां दर्शकों में बड़ी संख्या में अध्यापक  विद्यार्थी शामिल थे.

कई इंडियन वैज्ञानिकों ने कांग्रेस पार्टी जैसे प्रख्यात मंच पर प्राचीन समय के आविष्कारों पर किए इन दावों की निंदा की है. एयरोस्पेस वैज्ञानिक रोड्डम नरसिम्हा ने बोला है कि कई अन्य सेशनों में भी इसी तरह के दावे करने की बात सामने आई थी.

प्रख्यात वैज्ञानिक सीएनआर राव का कहना है, “मैं कांग्रेस पार्टी के सेशन में जाने से परहेज करता हूं. अगर मैं गया, तो ऐसा प्रतीत होगा कि मैं उन बयानों  दावों की पुष्टि पर रहा हूं.” इसी दौरान रविवार को जालंधर के चिल्ड्रन साइंस कांग्रेस पार्टी के जनरल प्रेसिडेंट मनोज कुमार ने सेशल में शामिल लोगों से बोला कि जो भी दावे शुक्रवार को दो वैज्ञानिकों ने किए थे, उन्हें भूल जाएं.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!