Breaking News

पीएमएलए न्यायालय में नीरव मोदी ने दाखिल किया अपना जवाब, बोले ये…

 देश के सबसे बड़े पीएनबी घोटाले के आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने विशेष पीएमएलए न्यायालय में अपना जवाब दाखिल किया है नीरव ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) की उस याचिका के विरूद्ध जवाब दिया है जिसमें उसे विशेष न्यायालय से आर्थिक भगोड़ा क्रिमिनल घोषित करने की मांग की गई थी नीरव मोदी ने अपने जवाब में बोला है ‘मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है पीएनबी घोटाला एक साधारण वित्तीय लेनदेन था, न कि बैंक घोटाला ‘ उसने आगे बोला कि वह सुरक्षा कारणों से राष्ट्र वापस नहीं आ सकता इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव के विरूद्ध बड़ी कार्रवाई करते हुए थाईलैंड में उसकी 13.14 करोड़ की संपत्ति सील की थी

मॉब लिंचिंग की संभावना जताई थी
पिछले दिनों ब्रिटिश अधिकारियों की तरफ से हिंदुस्तान को जानकारी दी गई थी कि नीरव मोदी इन दिनों ब्रिटेन में है इससे पहले दिसंबर में नीरव मोदी के एडवोकेट वी अग्रवाल ने बोला था कि उनके क्लाइंट ने सीबीआई को किए एक मेल में अपनी सुरक्षा को लेकर खतरा जताया है उन्होंने बोला कि जिस तरह उनका पुतला फूंका जा रहा है, वैसे में अगर उनको हिंदुस्तान लाया जाता है तो उनकी मॉब लिंचिंग कर दी जाएगी क्योंकि यहां उसे राक्षस ‘रावण’ के रूप में देखा जाता है हालांकि, प्रवर्तन निदेशालय की तरफ से नीरव के ‘जान के खतरे’ की दलील को ‘अप्रासंगिक’ बताया गया था

loading...

बिना किसी कारण पोस्टर ब्वॉय बनाया
प्रवर्तन निदेशालय की ओर से यह भी बोला गया था कि नीरव समन  ई-मेल मिलने के बावजूद जांच में योगदान करने के लिए हाजिर नहीं हुआ इससे यह पता चलता है कि वह हिंदुस्तान वापस आना ही नहीं चाहता हालांकि, अग्रवाल ने बोला कि उनके मुवक्किल ने जांच एजेंसियों के ई-मेल का जवाब दिया था  ‘सुरक्षा संबंधी कारणों’ से वापस आने में असमर्थता जताई थी अग्रवाल ने बोला था कि बैंक फ्राड मामले में उन्हें बिना किसी कारण का पोस्टर ब्वॉय बना दिया गया है

पिछले दिनों विदेश राज्यमंत्री वी के सिंह ने राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में बताया था कि, ‘अगस्त, 2018 में गवर्नमेंट ने ब्रिटेन के अधिकारियों को नीरव मोदी को हिंदुस्तान को प्रत्यर्पित किए जाने के लिए दो अनुरोध भेजे एक अनुरोध CBI की ओर से  दूसरा प्रवर्तन निदेशालय की ओर से था ‘ प्रवर्तन निदेशालय ने पिछले वर्ष नवंबर में नीरव मोदी की दुबई में 56 करोड़ रुपये से अधिक की 11 संपत्ति कुर्क की गई थी पिछले वर्ष अक्टूबर में जांच एजेंसी ने मोदी  उसके परिवार के सदस्यों की 637 करोड़ रुपये की संपत्ति भी कुर्क की थी

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!