Breaking News

PM मोदी का प्रस्तावित केरल दौरा कर दिया गया स्थगित

प्रधानमंत्री मोदी का प्रस्तावित केरल दौरा स्थगित कर दिया गया है. बीजेपी सूत्रों के बताया कि पीएम का रविवार को होने वाला दौरा फिल्हाल टाल दिया गया है. यह दौरा ऐसे समय में स्थगित हुआ है जब राज्य में सबरीमाला के मुद्दे पर संग्राम छिड़ा हुआ है. दो जनवरी को सबरीमाला मंदिर में दो स्त्रियों के प्रवेश के हिंसा कि आरंभ हुई थी. बताया जा रहा है की 1369 लोगों को हिंसा फैलाने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

हिंसा कि आरंभ बीजेपी  कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं कि झड़प से हुई. बीजेपी के मुताबिक मंदिर में प्रवेश करने वाली महिला भक्त नहीं बल्कि माओवादी थी. प्रवेश करने वाली दोनों स्त्रियों के नाम बिंदु (42) कनकदुर्गा (44) है. इसके अलावा भगवान अयप्पा के मंदिर में 46 वर्षीय श्रीलंकाई तमिल महिला के प्रवेश को लेकर असमंजस की स्थिति है.

बिंदू कॉलेज में लेक्चरर  भाकपा (माले) कार्यकर्ता हैं. वह कोझिकोड जिले के कोयिलैंडी की रहने वाली है. कनकदुर्गा मलप्पुरम के अंगदीपुरम में एक नागरिक आपूर्ति कर्मी हैं. वे दोनों 24 दिसंबर को सबरीमला आई थीं. इससे पहले चेन्नई के एक संगठन ने 11 स्त्रियों को मंदिर में प्रवेश करने से रोक दिया था  अयप्पा मंत्रोच्चारण कर रहे श्रद्धालुओं ने उन्हें वहां से लौटा दिया था.

loading...

हिंसा में मंदिर में स्त्रियों के प्रवेश का विरोध करने वाले संगठन सबरीमाला कर्मा समिति के कार्यकर्ता चंद्रन उन्नीथन की पंडलम में मौत हो गई. पुलिस ने इस मामले में दो सीपीआई कार्यकर्ताओं को अरैस्ट किया है. हालंकि CM विजयन के मुताबिक चंद्रन की मौत हार्ट अटैक से हुई है, न की घायल होने से. केरल पुलिस के मुताबिक यह हमला सुनियोजित था.

बताया जा रहा है कि मंदिर में स्त्रियों के प्रवेश के बाद मंदिर का शुद्धिकरण किया गया था. विभिन्न संगठनों के बुलाए हड़ताल के दौरान फैली हिंसा के मामले में पुलिस ने आठ सौ से ज्यादा केस दर्ज किये हैं.

पिछले वर्ष सितंबर में सुप्रीम न्यायालय ने 10 से 50 साल की आयु की स्त्रियों को ईश्वर अयप्पा स्वामी के मंदिर में प्रवेश की पाबंदी हटा दी थी. हालांकि, ईश्वर अयप्पा के भक्तों के विरोध के कारण अब तक एक भी महिला मंदिर में प्रवेश नहीं कर सकी थी.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!