Breaking News

पत्रकारों के लिए अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल!

गुरुवार को बोला कि उसका मानना है कि पत्रकारों को स्वस्थ  सभ्य आलोचना से किसी छूट का दावा नहीं करना चाहिए लेकिन साथ ही उन पर किसी तरह का ठप्पा लगाना उनकी गरिमा कम करने  उन्हें धमकाने के ‘‘पसंदीदा हथकंडे’’ के तौर पर सामने आया है

पत्रकारों के लिए अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल!
गिल्ड ने एक बयान में कहा, ‘‘हमने देखा कि हमारे नेता इसका कुछ समय से प्रयोग कर रहे हैं हाल फिल्हाल में बीजेपी के शीर्ष नेताओं के साथ आप के नेताओं ने पत्रकारों के लिए प्रेस्टीच्यूट, खबरों के कारोबारी, बाजारू  दलाल जैसे अपमानजनक शब्दों का स्पष्ट तौर पर प्रयोग किया ’’

loading...

उसने इस हफ्ते पीएम नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू लेने वाले पत्रकार की आलोचना के लिए कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रयोग किए गए शब्दों पर भी चिंता जताई गिल्ड की कार्यकारी समिति के सदस्यों के बीच व्यापक बहस के बाद यह बयान जारी किया गया कुछ सदस्यों ने ऐसे बयान जारी करने का विरोध करते हुए बोला कि गांधी की टिप्पणी अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला या खतरे की तरह नहीं है

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!