Breaking News

Netflix को इस राष्ट्र में लगा बड़ा झटका

नेटफ्लिक्स ने मंगलवार को जानकारी दी कि उसने एक व्यंग्यात्मक कॉमेडी शो के उस एपिसोड को हटा दिया है जिसमें सऊदी अरब की आलोचना की गई थी सऊदी के कई अधिकारियों ने इसकी शिकायत की थी इस कदम के बाद औनलाइन स्वतंत्रता को लेकर एक नया सवाल खड़ा हो गया है

‘पैट्रिऑट एक्ट विद हसन मिन्हाज’ के एक एपिसोड में इस्तांबुल स्थित सऊदी वाणिज्य दूतावास में पत्रकार जमाल खशोगी की मर्डर को लेकर सऊदी अरब की कड़ी आलोचना की गई थी इसमें विशेष तौर पर वली अहद मोहम्मद बिन सलमान की निंदा की थी साथ ही यमन में सऊदी के नेतृत्व वाले सैन्य अभियान को भी निशाना बनाया गया था

loading...

नेटफ्लिक्स की प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, ‘‘हम विश्वस्तर पर कलाकार की स्वतंत्रता का समर्थन करते हैं  सऊदी अरब से वैध कानूनी अनुरोध मिलने के बाद इस एपिसोड को हटाया गया है ’’

खशोगी को टाइम पत्रिका ने ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ सूची में शामिल किया
आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि इससे पहले इस्तांबुल में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में अक्टूबर में मारे गए पत्रकार जमाल खशोगी को टाइम पत्रिका ने ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ सूची में शामिल किया था   इस वर्ष टाइम पत्रिका की इस सूची में कई ऐसे पत्रकार हैं जिनकी या तो मर्डर कर दी गई या फिर उन्हें अपने कार्य के लिए सजा  उत्पीड़न का सामना करना पड़ा है

पत्रिका ने पत्रकारों को हकीकत का ‘गार्डियन्स (रक्षक)’ करार दिया है   खशोगी के साथ इस सूची में फिलीपीन की पत्रकार मारिया रेसा, रॉयटर के संवाददाता वा लोन  क्याव सो ओ (दोनों म्यामां की कारागार में बंद) हैं   इसके अतिरिक्त मेरीलैंड के एनापोलिस से निकलने वाले खबर लेटर के कर्मचारी शामिल हैं इसमें वह भी कर्मचारी शामिल हैं जो जून में हुई गोलीबारी में मारे गए थे टाइम पत्रिका 1927 से ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ टाइटल से सम्मानित करता आ रहा है इस हफ्ते के अंत में चार अलग-अलग कवर वाली पत्रिका प्रकाशित की गई है प्रत्येक में अलग-अलग सम्मानितों को दिखाया गया है

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!