Breaking News

नए साल पर मोदी सरकार ने दिया आम जनता को उपहार, आज से सस्ती हुए ये 23 चीजें

सरकार ने आम जनता को नए साल का उपहार देते हुए आज से 23 वस्तुओं एवं सेवाओं पर जीएसटी दर घटा दी है। इनमें सिनेमा टिकट, टेलीविजन और स्क्रीन मॉनिटर, पावर बैंक, फ्रोजन सब्जियां, छड़ी, मार्बल के टुकड़े, नेचुरल कॉर्क, फ्लाई ऐश की ईंट आदि शामिल हैं।

जीएसटी काउंसिल की इकतीसवीं बैठक  के बाद प्रेस कांफ्रेंस में वित्त मंत्री ने कई वस्तुएं अटठाइस फीसदी के टैक्स स्लैब से बाहर करने का ऐलान किया। अब टॉप  टैक्स स्लैब में सिर्फ 28 वस्तुएं रहेंगी, इसी के साथ तेईस वस्तुओं और सेवाओं पर जीएसटी घटाने पर सहमति बनी है। जीएसटी की नई दरें 1 जनवरी से लागू हो जाएंगी और दरें घटाने के बाद राजस्व पर 5500 करोड़ का बोझ पड़ेगा।

loading...

टैक्स स्लैब में बड़े परिवर्तन…

– सीमेंट और ऑटो पार्ट्स पर जीएसटी की दरों में कोई कटौती नहीं की गई है

– टीवी, टायर, मोबाइल बैटरी और वीडियो गेम को 28 फीसदी टैक्स स्लैब से 18 फीसदी टैक्स स्लैब में लाया गया है

– विमान से धार्मिक यात्राओं पर पहले 18 फीसदी टैक्स लगता था, लेकिन अब ये सामान्य टैक्स की तरह इकोनॉमी के लिए 5 फीसदी और बिजनेस क्लास के लिए 12 फीसदी होगा

– 100 रुपये तक की सिनेमा की टिकटों को 18 फीसदी से 12 फीसदी की दर पर लाया गया है, वहीं 100 रुपये से ऊपर की टिकटों पर टैक्स 28 फीसदी से 18 फीसदी कर दिया गया है

– बैंकों की तरफ से जन-धन खाता धारकों को दी जाने वाली सेवाओं को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है

– एसी, डिश वॉशर पर 28 फीसदी जीएसटी लगेगा

– थर्ड पार्टी इंश्योरेंस प्रीमियम पर जीएसटी 18 फीसदी से 12 फीसदी कर दिया गया है

– नए साल पर सरकार ने रसोई गैस सिलेंडर सस्ता करने का फैसला लिया है। सरकार ने सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर पर 5.91 रुपये और बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर पर 120.50 रुपये घटा दिए हैं। रसोई गैस के दामों में यह एक महीने के भीतर दूसरी कटौती है।

– देश की पेट्रोलियम कंपनियों ने साल 2018 की विदाई के मौके पर उपभोक्ताओं को खुशखबरी दी है। नए साल पर पेट्रोल 2018 की सबसे सस्ती दरों पर मिल रहा है। डीजल की यह दर पिछले नौ महीने में सबसे कम है।

जब जीएसटी लागू हुआ था तो कुल 226 वस्तुओं पर 28 फीसदी टैक्स था, लेकिन अब इस स्लैब में सिर्फ 28 वस्तुएं हैं, अब इसे पांच राज्यों में चुनावी हार का साइड इफेक्ट कहें या जीएसटी पर जनता की नाराजगी को कम करने की पहल, नई दरों से लोगों की जेबों को थोड़ी बहुत राहत तो जरूर मिलेगी।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!