सस्ती बाइक्स खरीदने की जगह इस वजह से महंगी व प्रीमियम बाइक्स को पसंद कर रहे है लोग

आज से कुछ वर्ष पहले तक लोग ऐसी बाइक्स खरीदते थे जो बेहद सस्ती तो होती ही थीं साथ ही साथ बेहतरीन माइलेज भी देती थीं. ऐसी बाइक्स बहुत ज्यादा किफायती  लो मेंटेनेंस होती थीं. इन बाइक्स में लोगों को रोज़-रोज़ पेट्रोल भरवाने की टेंशन नहीं होती थी, लेकिन अब लोगों ने सस्ती बाइक्स खार खरीदने की स्थान महंगी  प्रीमियम बाइक्स ( Premium bikes ) खरीदना पसंद कर रहे हैं. इसके पीछे क्या वजह है ये हम आपको बताने जा रहे हैं.

हाईटेक विशेषता : सस्ती बाइक्स के साथ सबसे बड़ी परेशानी ये है कि इन इनमें वही पुराने विशेषता जाते हैं जो बहुत ज्यादा समय से बाइक्स में मिलते हैं जिनमें एनालॉग स्पीडोमीटर एलॉय व्हील, ड्रम ब्रेक्स जैसे विशेषता शामिल हैं. जबकि प्रीमियम बाइक्स में डिजिटल स्पीडोमीटर , Disc Brake , एलईडी इंडिकेटर शामिल हैं.

हाईटेक सेफ्टी विशेषता : प्रीमियम बाइक्स में एबीएस ( एंटी लॉकिंग ब्रेकिंग सिस्टम ) दिया जाता है जो राइडर की सेफ्टी को सुनिश्चित करता है साथ ही यह फिसलन भरी सड़कों पर बाइक को पूरी तरह से स्टेबल रखता है. वहीं किफायती बाइक्स की बात करें तो इनमें एबीएस नहीं दिया जाता है.

डुअल Disc ब्रेक : आजकल की ज्यादातर प्रीमियम बाइक्स में डुअल Disc ब्रेक दिया जाता है. ये दोनों ब्रेक्स आपकी बाइक को आसनी से तेज स्पीड में भी रोक देते हैं, वहीं किफायती बाइक्स में ज्यादातर ड्रम ब्रेक दिए जाता हैं.

जबरदस्त पिकअप  क्षमता : ज्यादातर प्रीमियम बाइक्स 180 cc की होती हैं ऐसे में इनमें जबरदस्त क्षमता  पिकअप होता है जिससे ये महज कुछ सेकेंड्स में 60 से 80 किलोमीटर की स्पीड पकड़ लेती हैं. वहीं ज्यादातर किफायती बाइक्स 100 से 125 cc के इंजन से लैस होती हैं जिनमें बेहद कम पिकअप  कम क्षमता होती है.