Friday , December 6 2019 18:07
Breaking News

शादी के लिए पंचायत का फरमान

राजस्थान के जोधपुर में एक 22 साल की लड़की ने पुलिस स्टेशन में ही जहर खा लिया. अधिकारियों को मुताबिक जब वो लड़की सिर्फ 3 साल की थी तो उसके माता-पिता ने जीवराज नाम के लड़के से उसकी शादी तय कर दी थी. लड़की का नाम दिव्या है और वो शादी करना नहीं चाहती लेकिन जीवराज के माता-पिता और गांव की पंचायत उसपर दबाव डालते थे और अब तंग आकर उसने पुलिस स्टेशन में ही जहर खा लिया.

Image result for शादी के लिए पंचायत का फरमान

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक पिछले कई सालों से जीवराज का परिवार दिव्या पर शादी करने के लिए दबाव बना रहा था. जीवराज के परिवार वालों का ये कहना था कि दिव्या को अपने माता-पिता के वादे को निभाना चाहिए. दिव्या ने कुछ दिनों तक शादी को रोके रखा लेकिन बाद में तंग आकर उसने मना ही कर दिया. अब ऐसे में गांव की पंचायत ने दिव्या के परिवार पर 16 लाख का जुर्माना लगा दिया.

दिव्या ने अपनी शिकायत में लिखा है कि पंचायत को 16 लाख रुपए देने के बाद भी जीवराज का परिवार उसे परेशान करता रहा और शादी का दबाव बढ़ाता रहा. ऐसे में तंग आकर वो कई बार पुलिस के पास गई और बीते गुरूवार को पुलिस ने जीवराज के परिवार और पंचायत के खिलाफ शिकायत दर्ज कर ली. पुलिस शिकायत से चिढ़कर पंचायत ने एक बार फिर दिव्या के परिवार संग ज्यादती की और उनपर 20 लाख रुपए का जुर्माना लगा दिया.

सिर्फ इतना ही नहीं पंचायत ने फरमान सुनाया कि दिव्या और उसका परिवार सभी से माफी मांगे वरना उनका गांव में हुक्का-पानी बंद कर दिया जाएगा. ऐसे में रविवार को गांव में पंचायत होने से पहले ही दिव्या पुलिस स्टेशन पहुंच गई. वहां उसने अपने परिवार और पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में जहर खा लिया.

दिव्या ने कहा, ”मैं इतनी डर गई थी कि मैंने अपने घर से बाहर निकलना बंद कर दिया. अपना करियर बनाने की मेरी उम्मीदें धराशायी हो गईं. पंचायत के हस्तक्षेप करने के बाद मुझे कोई उम्मीद नहीं दिखाई पड़ी और इसलिये मैंने जहर खा लिया.”

डीसीपी (पूर्व) अमनदीप सिंह ने बताया कि मामले की जांच एससी-एसटी सेल के डीएसपी रैंक के एक अधिकारी नारायण सिंह को सौंप दी गई है. अधिकारियों ने बताया कि सरपंच, जोधपुर के मौजूदा जिला प्रमुख के पिता समेत पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. अधिकारियों ने कहा कि मामले में पुलिस की कथित लापरवाही का भी संज्ञान लिया गया है. आपको बता दें कि सामाजिक दबावों के बावजूद दिव्या हाल में सर्टिफाइड चार्टर्ड एकाउन्टेंट बनी थी.

Share & Get Rs.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!