Wednesday , March 3 2021 23:46
Breaking News

पाकिस्‍तान पर मंडराया ये बड़ा खतरा, अमेरिका समेत इन देशो ने दिया झटका

पाकिस्‍तान पर इससे पहले भी इस तरह का बड़ा जुर्माना लग चुका है, जब जुलाई 2019 में वर्ल्ड बैंक (World Bank) के एक ट्रिब्यूनल ने साल 2011 में सोने की खान का लाइसेंस रद्द करने की सिफारिश करते हुए 5.9 अरब डॉलर का हर्जाना मांगा था.

सोने की इस खान को ऑ‍स्‍ट्रेलिया और चिली की खनन कंपनियों ने खरीदा हुआ था. ऑस्‍ट्रेलिया की खनन कंपनी ब्रोकेन ह‍िल ने लाइसेंस रद करने पर पाकिस्तान से 8.5 अरब डॉलर का हर्जाना मांगा था. पहले ये समझौता पाकिस्‍तान की बलूचिस्‍तान सरकार और ऑस्‍ट्रेलिया की खनन कंपनी ब्रोकेन ह‍िल के बीच था, जो साल 1993 में रेको डिक खान के लिए किया गया था.

मगर वहां अरबों डॉलर का सोना मिलने के बाद पाकिस्‍तान सरकार की नीयत खराब हो गई और उसने इस समझौते को रद्द कर दिया. अब एक अदालत ने पहले से कंगाल चल रहे पाकिस्‍तान पर 6 अरब डॉलर का जुर्माना लगाते हुए बड़ा झटका दिया है.

एक खबर के मुताबिक अदालत ने आदेश द‍िया है कि पाकिस्‍तानी प्रॉपर्टी को जब्‍त करने की प्रक्रिया शुरू की जाए. इस प्रक्रिया में अमेरिका के न्‍यूयॉर्क शहर में रूजवेल्‍ट होटल और पेरिस में स्‍क्राइब होटल की कीमत का हिसाब लगाया जाए.

इन दोनों होटलों का मालिकाना हक सरकारी विमानन कंपनी पाकिस्‍तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के अधीन आने वाली एक कंपनी के पास है. पाकिस्तान की ये कंपनी British Virgin Islands में रजिस्टर है.

आर्थिक तंगी का सामना कर रहे पाकिस्तान (Pakistan Financial Condition) को एक और बड़ा झटका लगा है. मुश्किल दौर से गुज़र रही पाकिस्‍तान सरकार पर वेस्ट इंडीज के British Virgin Islands की एक अदालत ने तकरीबन 6 अरब डॉलर (करीब 44 हजार करोड़ रुपये) (6 Billon Dollar Fine on Pakistan) का जुर्माना लगाया है.

इससे अमेरिका (America) और फ्रांस (France) में पाकिस्‍तान के मालिकाना हक वाली इमारतों के जब्‍त होने का खतरा मंडराने लगा है. पाकिस्‍तान सरकार ने 28 साल पहले सोने का खनन करने वाली कंपनियों के साथ एक समझौता किया था.

 

 

Share & Get Rs.
error: Vision 4 News content is protected !!