Breaking News

दिल्ली में बिगड़े हालात, ट्रैक्टर रैली के नाम पर किसानों ने किया ये…

अधिकारी ने बताया कि पुलिस कर्मियों ने सिंघु बॉर्डर पर किसानों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। वे तय समय से पहले आउटर रिंग रोड की ओर मार्च करने की कोशिश कर रहे थे।

 

राष्ट्रीय राजधानी के सीमा बिंदुओं पर ट्रैक्टरों का जमावड़ा दिखाई दिया जिन पर झंडे लगे हुए थे और इनमें सवार पुरुष व महिलाएं ढोल की थाप पर नाच रहे थे।

सड़क के दोनों ओर खड़े स्थानीय लोग फूलों की बारिश भी कर रहे थे। वहीं, सुरक्षा कर्मी किसानों को समझाने की कोशिश कर रहे थे कि वे राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड खत्म होने के बाद तय समय पर परेड निकालें।

नये केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ ये सभी दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों की अगुवाई करने वाले किसान संगठनों का संघ संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले राष्ट्रीय राजधानी में ट्रैक्टर परेड निकालने की योजना बनाई गई थी।

ट्रैक्टर परेड को लेकर किसान संगठनों की तरफ से कुछ निर्देश जारी किए गए थे, लेकिन फिलहाल इन निर्देशों का कोई खासा असर देखने को नहीं मिल रहा है। किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे किसान नेताओं को उन्हें नियंत्रित करने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है।

दिल्ली के मुकरबा चौक पर लगाए गए बैरिकेड और सीमेंट के अवरोधकों को ट्रैक्टरों से तोड़ने की कोशिश कर रहे किसानों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे।

राष्ट्रीय राजधानी के सिंघु, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के कुछ समूह मंगलवार सुबह दिल्ली पुलिस द्वारा ट्रैक्टर परेड के लिए निर्धारित किए गए समय से पहले अवरोधकों को तोड़कर दिल्ली में दाखिल हो गए थे।

दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच टकराव देखने को मिला। किसानों ने बैरिकेड्स को तोड़कर फेंक दिया है। किसानों का कहना है कि पुलिस की लापरवाही के कारण यह भिड़ंत हुई है। पुलिस ने इन्हें रोकने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। किसानों ने भी पुलिस की गाड़ियों पर पथराव किया।

गणतंत्र दिवस (Republic Day) के अवसर पर किसान ट्रैक्टर रैली निकाल रहे हैं। किसान नेताओं का दावा था कि उनकी ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) अनुशासन और पूरे नियम के तहत निकाली जाएगी, लेकिन सड़क पर कई जगह ऐसा बिल्कुल भी नजर नहीं आया।

दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शनकारी किसानों में शामिल कुछ युवा किसान तय समय से पहले बैरीकेड हटाकर देश की राजधानी दिल्ली में प्रवेश कर गए। वहीं ट्रैक्टर पर बैठे युवा किसान तेज आवाज में डीजे, तेज रफ्तार में ट्रैक्टर को हाइवे पर दौड़ाते नजर आ रहे हैं।

 

 

 

Share & Get Rs.
error: Vision 4 News content is protected !!