Breaking News

डूबते पाकिस्‍तान को सऊदी अरब का सहारा

रियाद। कैश क्रंच और आर्थिक संकट का सामना करते पाकिस्‍तान को सऊदी अरब का सहारा मिला है। सऊदी अरब पाकिस्‍तान को तीन बिलियन डॉलर के तौर पर विदेशी मुद्रा देगा। इसके अलावा तेल निर्यात पर उसे तीन बिलियन डॉलर कर कर्ज भी देने को राजी हो गया है। पाकिस्‍तान की सरकार की ओर से मंगलवार को इस बात की जानकारी दी गई है। आपको बता दें कि पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान सोमवार को दूसरी बार सऊदी अरब की यात्रा पर गए थे। उनके इसी दौरे पर सऊदी अरब की ओर से मदद का भरोसा पाकिस्‍तान को दिलाया गया है।Image result for डूबते पाकिस्‍तान को सऊदी अरब का सहारा

कॉन्फ्रेंस के दौरान इमरान खान ने लिया वादा

loading...

पाकिस्‍तान को सऊदी अरब से कुल छह बिलियन डॉलर की मदद मिलने वाली है। इस मदद के बाद पाकिस्‍तान को अंतरराष्‍ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) से मिलने वाले बेलआउट में राशि कम हो सकेगी। पाक इस समय बेलआउट के लिए आईएमएफ के साथ बातचीत कर रहा है। सऊदी सरकार की ओर से पाक के साथ यह सौदा उस समय किया गया जब इमरान, सऊदी इनवेस्‍टमेंट कॉन्फ्रेंस में शिरकत कर रहे थे। हाल ही में टर्की के इस्‍तानबुल में स्थित सऊदी कांसुलेट में जर्नलिस्‍ट जमाल खाशोगी की मौत के बाद दुनिया के कई देशों ने इस कॉन्‍फ्रेंस से दूरी बना ली थी। लेकिन पाक ने इसमें शिरकत करने का मन बनाया था।

सात नवंबर को आईएमएफ की टीम आएगी पाक

इमरान खान ने सऊदी अरब रवाना होने से पहले कहा था कि उनके देश को इस समय विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ाने की सख्‍त जरूरत है। पाक में विदेशी मुद्रा भंडार चार वर्षो में सबसे कम स्‍तर पर पहुंच गया है। पाक के पास दो माह का निर्यात खरीदने के लिए भी जरूरी रकम नहीं है और न ही वह इस पूरे वर्ष तक कर्ज की रकम अदा करने की हालत में है। पाक के वित्‍त मंत्री असद उमर ने इस वर्ष आईएमएफ से वार्ता का अनुरोध किया था और उनका मकसद वार्ता के जरिए आईएमएफ को बेलआउट के लिए राजी करना था। पांच वर्षों में यह दूसरा मौका है जब पाक को बेलआउट की जरूरत पड़ रही है। सात नवंबर को आईएमएफ की एक टीम पाक का दौरा करेगी।

मित्र देशों पर टिकी हैं इमरान की नजरें

इमरान खान की कोशिश है कि वह मित्र देशों की मदद हासिल करके आईएमएफ से मिलने वाली रकम की राशि को कम कर सकें। इमरान खान पिछले वर्ष भी सऊदी अरब की यात्रा पर गए थे तो वह इमरान का पहला विदेशी दौरा था। पाक के विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि इमरान की नई यात्रा से मंगलवार रात को सफलता हासिल हो सकी है। विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सऊदी अरब इस बात पर रजामंद हो गया है कि वह एक वर्ष तक के लिए तीन बिलियन डॉलर की रकम पाक को देगा। इमरान खान अगले हफ्ते अपने पहले चीन दौरे पर भी रवाना होने वाले हैं।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!