Friday , December 13 2019 8:45
Breaking News

टीम इंडिया की राष्ट्रीय चयन समिति को तब शर्मसार होना पड़ा जब महेंद्र सिंह

टीम इंडिया की राष्ट्रीय चयन समिति को तब शर्मसार होना पड़ा जब महेंद्र सिंह धौनी ने रविवार को झारखंड के लिये विजय हजारे ट्रॉफी के क्वार्टरफाइनल में खेलने से इनकार कर दिया जबकि मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने दो दिन पहले सार्वजनिक रूप से इसकी घोषणा की थी।

Image result for धौनी ने

इस मौजूदा घटना से स्पष्ट हो गया कि चयनकर्ताओं और सीनियर खिलाड़ियों के बीच कोई संवाद नहीं होता। खिलाड़ी अपना कार्यक्रम खुद तय करते हैं। धौनी पिछले दो साल से बल्लेबाज के तौर पर फार्म में नहीं है, उनके महाराष्ट्र के खिलाफ झारखंड का क्वार्टरफाइनल मैच खेलने की उम्मीद थी।

शनिवार को झारखंड के मुख्य कोच राजीव कुमार ने बेंगलुरू में पत्रकारों को बताया कि धौनी ने क्वार्टरफाइनल में नहीं खेलने का फैसला किया जबकि मुख्य चयनकर्ता ने इससे पहले उनके इसमें हिस्सा लेने की घोषणा की थी।

झारखंड के कोच कुमार ने कहा, ‘‘धौनी को लगता है कि इस चरण में टीम से जुड़ना उचित नहीं होगा, क्योंकि टीम ने इतना अच्छा प्रदर्शन किया है और उनकी अनुपस्थिति में क्वार्टरफाइनल तक जगह बनायी है। वह टीम का संतुलन नहीं बिगाड़ना चाहते।”

धौनी ने इस साल 22 दिन (15 वनडे और सात टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच) ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला है जिससे वह जब भी लंबे ब्रेक के बाद खेलते हैं तो फार्म में नहीं दिखते। ये भी सवाल उठाये जा रहे हैं कि प्रसाद ने सार्वजनिक घोषणा करने से पहले धौनी से एक बार बात की थी।

बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने शनिवार को कहा, ‘‘मैं जानना चाहूंगा कि एमएसके प्रसाद कैसे धौनी से संपर्क करते हैं।”

Share & Get Rs.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!