Saturday , December 7 2019 11:57
Breaking News

जम्मू बस स्टैंड पर ग्रेनेड हमले में एक और मौत

जम्मू स्थित बस अड्डे पर गुरुवार को हुए ग्रेनेड हमले में मरने वालों की संख्या बढ़कर दो हो गई है। इस हमले में उत्तराखंड के मोहम्मद शारिक (17) नाम के युवक की गुरुवार को मौत हो गई थी। धमाके के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके को चारों तरफ से घेर लिया था और तलाशी शुरू कर दी थी। सुरक्षाबलों को जल्द ही इसमें कामयाबी हाथ लगी और ग्रेनेड फेंकने वाले यासिर भट्ट को दबोच लिया गया जिसने अपना कबूल किया है।

यासिर भट्ट
बस स्टैंड पर ग्रेनेड फेंकने वाले यासिर भट्ट गिरफ्तार

इस हमले के बारे में आईजीपी जम्मू मनीष कुमार सिन्हा ने बताया कि यह धमाका बस अड्डे पर हुआ था। बस स्टैंड पर ग्रेनेड फेंकने वाले यासिर भट्ट को गिरफ्तार कर लिया गया है, उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। शुरुआती पूछताछ में उसने कबूल किया कि आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के जिला कमांडर फारूक अहमद भट उर्फ उमर के कहने पर इस वारदात को अंजाम दिया।

ब्लास्ट
ब्लास्ट में अब तक दो लोगों की मौत

आईजीपी जम्मू मनीष कुमार सिन्हा ने बताया कि मामले की जांच के लिए टीमों का गठन कर दिया गया है, सीसीटीवी फुटेज की भी जांच की जाएगी। उन्होंने बताया कि चश्मदीदों के बयान के आधार पर हम आरोपी की पहचान करने में सफल हुए। बता दें कि बस स्टैंड पर हुए हमले में 30 लोग घायल हो गए थे जिनको इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

राज्यपाल सत्यपाल मलिक
मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपये की आर्थिक मदद का ऐलान

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने जम्मू बस स्टैंड पर ग्रेनेड हमले की निंदा की थी। उन्होंने मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपये की आर्थिक मदद और घायलों को 20,000 रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा की। पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी ट्वीट कर इस हमले की निंदा की, ‘मैं इस आंतकी कृत्य की कड़ी निंदा करती हूं। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना करती हूं। कुछ लोग हमें बांटने की कोशिश कर रहे हैं, हमें एकजुट रहना चाहिए तभी ऐसी ताकतों को हराया जा सकता है।’

Share & Get Rs.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!