Breaking News

चौथे दिन गिरे पेट्रोल-डीजल के दाम

एक बार फिर आम आदमी को राहत दी है रविवार को लगातार चौथे दिन में गिरावट दर्ज की गई है रविवार को दिल्‍ली में पेट्रोल के रेट 25 पैसे प्रति लीटर की गिरावट के साथ 81.74 रुपये प्रति लीटर हो गए वहीं डीजल में रविवार को 17 पैसे प्रति लीटर की गिरावट दर्ज की गई है

Image result for चौथे दिन गिरे पेट्रोल-डीजल के दाम

आर्थिक राजधानी मुंबई में भी रविवार को पेट्रोल के दामों में 25 पैसे प्रति लीटर की कमी दर्ज की गई इसके बाद यहां पेट्रोल के दाम 87.21 रुपये प्रति लीटर हो गए वहीं डीजल के दाम 18 पैसे प्रति लीटर की गिरावट के साथ 78.82 रुपये प्रति लीटर पर आ गए इससे मुंबई के लोगों को बड़ी राहत मिली

loading...

बता दें कि पेट्रोल  डीजल के दाम में कटौती का सिलसिला शनिवार को तीसरे दिन भी जारी रहा था राष्ट्र की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 82 रुपये प्रति लीटर से कम हो गया था दिल्ली में शनिवार को पेट्रोल का दाम 39 पैसे घटकर 81.99 रुपये प्रति लीटर हो गया था, जबकि डीजल के दाम में 12 पैसे प्रति लीटर की कमी आई थी डीजल का भाव दिल्ली में 75.36 रुपये प्रति लीटर हो गया था

कोलकाता में पेट्रोल 38 पैसे घटकर 83.83 रुपये प्रति लीटर हो गया था  डीजल का दाम 12 पैसे की कटौती के साथ 77.21 रुपये प्रति लीटर हो गया था राष्ट्र की आर्थिक राजधानी मुंबई में शनिवार को पेट्रोल का दाम 38 पैसे घटकर 87.46 रुपये प्रति लीटर हो गया था  डीजल 13 पैसे की कमी के साथ 79 रुपये प्रति लीटर बिका था

माना जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय मार्केट में पिछले दिनों कच्चे ऑयल के दाम में आई गिरावट के बाद इंडियन ऑयल विपणन कंपनियों द्वारा पेट्रोल  डीजल की कीमतों में कटौती की जा रही है हालांकि इस हफ्ते अंतर्राष्ट्रीय वायदा कारोबार में ऑयल का भाव सीमित दायरे में रहा, लेकिन पिछले 15 दिनों में कच्चे ऑयल के दाम में करीब छह डॉलर प्रति बैरल की कमी आई है तीन अक्टूबर को आईसीई पर ब्रेंट क्रूड 86 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर चला गया था, जबकि शुक्रवार को ब्रेंट क्रूड का दिसंबर डिलीवरी सौदा पिछले सत्र के मुकाबले करीब एक प्रतिशत की बढ़त के साथ 80 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ

वहीं, घरेलू वायदा मार्केट में कच्चे ऑयल का दाम पिछले एक पखवाड़े में 600 रुपये प्रति बैरल से ज्यादा लुढ़का है कारोबारी हफ्ते के आखिर में शुक्रवार को मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर कच्चे ऑयल का इस महीने खत्म होने वाला अनुबंध पिछले सत्र के मुकाबल 10 रुपये की मजबूती के साथ 5,083 रुपये प्रति बैरल पर बंद हुआ, जबकि तीन अक्टूबर, 2018 को इस सौदे का भाव 5,600 रुपये से ज्यादा उछला था

जानकार बताते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय मार्केट में कच्चे ऑयल के दाम में आई तेजी या मंदी का प्रभाव हिंदुस्तान में पेट्रोल या डीजल के दाम पर करीब दो हफ्ते बाद ही दिखता है

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!