Saturday , December 14 2019 11:40
Breaking News

चुनावों में पार्टियों की ओर से धन के दुरुपयोग को रोकने के लिए आयोग ने किया इस समिति का गठन

11 अप्रैल से शुरू होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर निर्वाचित आयोग ने कमर कस ली है. चुनावों में राजनीतिक पार्टियों और उम्मीदवार की ओर से धन के दुरुपयोग को रोकने के लिए आयोग ने बड़ी समिति का गठन किया है. इसमें सीबीआई के पूर्व विशेष निदेशक और वर्तमान समय में नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो (बीसीएएस) के चीफ राकेश अस्थाना भी आमंत्रित सदस्‍य के तौर पर शामिल हैं.

निर्वाचन आयोग ने सोमवार को समिति के चुने हुए सदस्यों को पत्र भी भेज दिया है. निर्वाचन आयोग में समिति की पहली बैठक 15 मार्च को शाम 4 बजे होने वाली है. इस बैठक में चुनाव आयोग की समिति के सभी सदस्य शामिल होंगे. चुनाव आयोग की ओर से मुख्य चुनाव आयुक्त, दोनों चुनाव आयुक्त और बाकी सभी आला अधिकारी शामिल होंगे. समिति का मुख्य उद्देश्य चुनाव में अवैध धन के दुरुपयोग को रोकना है ताकि चुनाव में वोटरों को धन के प्रभाव से बचाया जा सके.

इस कमेटी का विशेष ध्‍यान दक्षिण के 4 प्रदेशों तमिलनाडु, आन्ध्र प्रदेश, कर्नाटक और तेलंगाना पर होगा. इन प्रदेशों में धन का दुरुपयोग ज्यादा होता है. लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की ऐलान के बाद गठित की गई समिति में वितीय एजेंसियों के प्रमुख शामिल हैं. इस समिति में सीबीडीटी के चेयरमैन, केन्द्रीय अप्रत्यक्ष कर बोर्ड के चेयरमैन, प्रवर्तन निदेशालय के डायरेक्टर, केंद्रीय आर्थिक अन्वेषण ब्यूरो के डायरेक्टर, वितीय अन्वेषण युनिट के चीफ शामिल हैं.

Share & Get Rs.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!