Breaking News

गाड़ियों के नंबर प्लेट में नहीं हुआ ये, तो लगेगा इतने हजार रूपए का जुर्माना

Loading...

नया मोटर व्हीकल एक्ट (Motor Vehicle Act) लागू होने के बाद ट्रैफिक के नियम (traffic rules) बहुत ज्यादा कठोर हो गए हैं।

नए एक्ट में ट्रैफिक के नियमों का उल्लंघन करने पर भारीभरकम जुर्माना (fine) लगाया जा रहा है। इसलिए आपको ट्रैफिक नियमों की पूरी जानकारी होना महत्वपूर्ण है। नंबर प्लेट (number plate) को लेकर भी नियम कायदे हैं, जिनके बारे में जानना महत्वपूर्ण है।

Loading...

ट्रैफिक नियमों में बाइक, थ्री व्हीलर या कार के नंबर प्लेट को लेकर कई तरह के दिशा-निर्देश हैं, जिनको अनुसरण किया जाना महत्वपूर्ण है। कई लोग नंबर प्लेट को लेकर लापरवाही दिखाते हैं। लेकिन ऐसा करना आपको कठिन में डाल सकता है।

ट्रैफिक रुल्स के मुताबिक नंबर प्लेट पर रोमन या अरेबिक फॉन्ट में ही नंबर लिखवा सकते हैं। नंबर साफ-साफ व स्पष्ट लिखा होना चाहिए ताकि वो दूर से ही नजर आए। किसी भी दूसरे फॉन्ट से आड़े-तिरछे नंबर लिखवाना अवैध है। स्टायलिश फॉन्ट का प्रयोग भी नहीं करना चाहिए। मोटर व्हीकल एक्ट के नियम नंबर 50 व 51 में इस बारे में जानकारी दी गई है।

बाइक व कार के साथ दूसरी गाड़ियों के नंबर प्लेट को लेकर खास नियम हैं। इसमें 70 सीसी से नीचे की बाइक के नंबर प्लेट में फॉन्ट की लंबाई 15 एमएम, चौड़ाई 2.5 एमएम व नंबर या अक्षर के बीच में 2.5 एमएम की खाली स्थान होनी चाहिए। अगर 70 सीसी से ज्यादा की बाइक या थ्री व्हीलर होता है तो नंबर वाले फॉन्ट की लंबाई 30 एमएम, चौड़ाई 5 एमएम वनंबर या अक्षर के बीच 5 एमएम का गैप होना चाहिए।

500 सीसी के नीचे की बाइक या थ्री व्हीलर में नंबर के फॉन्ट की लंबाई 35 एमएम, चौड़ाई 7 एमएम व दो नंबर या अक्षर के बीच 5 एमएम का गैप होना चाहिए। 500 सीसी के ऊपर के सभी बाइक व कार की नंबर प्लेट में नंबर की लंबाई 65 एमएम, चौड़ाई 10 एमएम व नंबर या अक्षर के बीच 10 एमएम का गैप होना चाहिए।

नंबर प्लेट के कलर को लेकर भी नियम हैं। इन नियमों से व्हीकल के प्राइवेट या कमर्शियल होने की जानकारी मिलती है। मसलन प्राइवेट व्हीकल के नंबर प्लेट का बैकग्राउंड सफेद वउस पर ब्लैक कलर से नंबर लिखे होने चाहिए। एक या दो लाइन में नंबर लिखवा सकते हैं।

उसी तरह से कमर्शियल वाहनों के लिए पीले बैकग्राउंड में ब्लैक कलर से नंबर लिखवाना चाहिए। अगर नंबर प्लेट का बैकग्राउंड पीला व उस पर लाल रंग से नंबर लिखे हों तो इसका मतलब है कि ये गाड़ी का टेम्पररी रजिस्ट्रेशन है। ट्रेड सर्टिफाइड वाहनों में लाल रंग के बैकग्राउंड में सफेद रंग से नंबर लिखे जाते हैं।

विदेशी राजनयिकों की गाड़ियों के नंबर प्लेट भी खास होते हैं। दिल्ली में रहने वाले विदेशी राजनयिकों की गाड़ी के नंबर प्लेट का बैकग्राउंड ब्लू कलर का होता है व उस पर सफेद कलर में नंबर लिखे होते हैं। उसी तरह से दिल्ली से बाहर रहने वाले विदेशी राजनयिकों की गाड़ी के नंबर प्लेट का बैकग्राउंड पीला होता है व उस पर ब्लैक कलर से नंबर लिखे होते हैं।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!