Breaking News

इस कारण ममता ने लगाया रेलवे पर लापरवाही और बेरूखी बरतने का आरोप

पश्चिम बंगाल में कोलकाता से सटे हावड़ा के सांतरागाछी रेलवे स्टेशन पर मंगलवार शाम ओवरब्रिज पर मची भगदड़ में दो यात्रियों की मौत हो गई, जबकि 17 घायल हो गए। इनमें दो बच्चे भी हैं। हादसा शाम साढ़े छह बजे हुआ।

Image result for ममता ने रेलवे पर लापरवाही और बेरूखी बरतने का लगाया आरोप

घायलों में कई की हालत गंभीर होने से मरने वालों की तादाद बढ़ने का अंदेशा है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि एक साथ तीन ट्रेनों के पहुंचने की घोषणा के बाद लोगों में भगदड़ मच गई। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी रात को हावड़ा अस्पताल जाकर घायलों का हालचाल पूछा।

loading...

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि दफ्तर से वापसी का समय होने के कारण शाम को दो और तीन नंबर प्लेटफार्म तक जाने वाले संकरे ओवरब्रिज पर यात्रियों की भारी भीड़ थी। यह लोग ट्रेन के आने का इंतजार कर रहे थे। उसी समय एक नंबर प्लेटफार्म पर शालीमार-नागरकोइल एक्सप्रेस और दो व तीन नंबर पर ईएमयू लोकल के आने का एलान किया गया। इससे लोगों में भगदड़ मच गई। इसमें कई लोग ओवरब्रिज से नीचे गिर गए।

मौके पर पहुंचे पुलिस व रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों ने घायलों को नजदीकी रेलवे अस्पताल पहुंचाया। वहां से उन्हें हावड़ा जनरल अस्पताल ले जाया गया, जहां दो घायलों की मौत हो गई। फिलहाल मृतकों की पहचान नहीं हो सकी है।

दक्षिण पूर्व रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी संजय घोष ने बताया कि कुछ देर पहले एक ट्रेन के वहां पहुंचने पर उसके यात्री भी ओवरब्रिज से होकर बाहर निकल रहे थे। संकरे ओवरब्रिज पर पहले ही भीड़ थी। फिर तीन ट्रेन के आने की घोषणा से भगदड़ मची। हादसे से ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित नहीं हुई।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने संतरागाछी स्टेशन पर एक पैदल पारपुल पर भगदड़ को लेकर मंगलवार को रेलवे पर लापरवाही और बेरूखी बरतने का आरोप लगाया। इस हादसे में दो लोगों की मौत हुई है। घटना के बाद ममता बनर्जी ने स्टेशन का दौरा किया। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति को रोकने के लिए और अधिक आंतरिक समन्वय होना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि समन्वय में कमी है और रेलवे को इसे देखना चाहिए। उसे दो ट्रेनों के आगमन के बीच कुछ समय अंतराल देना चाहिए ताकि यात्री प्लेटफॉर्म बदल सकें।’’ ममता ने कहा, ‘‘ऐसी स्थितियां लापरवाही और बेरूखी के कारण हुई है और रेलवे को जिम्मेदार तरीके से कार्रवाई करनी चाहिए।’’

रेल मंत्री रह चुकीं ममता ने कहा कि अगर एहतियात बरती जाए तो भविष्य में ऐसी स्थिति नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने संतरागाछी भगदड़ में मार गये लोगों के परिवारों के लिए पांच- पांच लाख रुपये और घायल हुए लोगों के लिए एक- एक लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!