Saturday , December 14 2019 16:07
Breaking News

इन वजहों से फिर टल सकती है यूपी टीईटी की परीक्षा

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2018 में एक बार फिर से बदलाव की गुंजाइश दिखने लगी है। प्रदेश सरकार 18 नवंबर को टीईटी की परीक्षा कराने जा रही है, लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि इस परीक्षा की तारीख टल सकती है। इसके पीछे की वजहों की अगर बात करें तो 18 नवबर के दिन ही उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग इलाहाबाद की असिस्टेंट प्रोफेसर व बी.डी.ओ (ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर) की भर्ती परीक्षा है।अनुमान है कि इन तीनों परीक्षाओं में करीब 33 लाख अभ्यर्थी भाग ले रहे हैं। सबसे ज्यादा संख्या टीईटी परीक्षा के लिए इसमें करीब 19 लाख अभ्यर्थियों के शामिल होने की संभावना है। इस 19 लाख में प्राथमिक के लिए 12,05,241 और उच्च प्राथमिक के लिए 6,22,610 अभ्यर्थियों के शामिल होने की संभावना है।

Related image

छूट सकती हैं बाकी की परीक्षाएं

बाकी की दो परीक्षाओं, उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग इलाहाबाद की असिस्टेंट प्रोफेसर व बी.डी.ओ में वही प्रतिभागी शामिल होते हैं जो टीईटी में भी शामिल हो रहे हैं। आमतौर पर नौकरी की तैयारी करने वाले छात्र हर परीक्षा में किस्मत आजमाते हैं। ये तीनों परीक्षाएं यदि एक ही दिन होती हैं तो अभ्यर्थी किसी एक ही परीक्षा में शामिल हो पाएंगे। शासन के स्तर पर इस बात की तैयारी चल रही है कि परीक्षा की इन तारीखों में टकराव ना हो, और हर छात्र तीनों परीक्षाओं में शामिल हो सके। अब इस बात के संकेत मिलने शुरू हो गए हैं कि टीईटी परीक्षा की तारीख को आगे खिसकाया जा सकता है।

18 नवंबर को परीक्षा कराना पड़ सकता है महंगा

उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग एवं अधीनस्थ शिक्षा आयोग द्वारा अपने परीक्षा कार्यक्रम पहले घोषित करके परीक्षा केन्द्र तक तय कर दिया गया हैं। 18 नवंबर को तीन परीक्षाओं के एक साथ होने की वजह से परीक्षा केन्द्र मिलना मुश्किल हो गया है। अगर टीईटी परीक्षा के लिए परीक्षा नियामक, जिला प्रशासन और डीआईओएस, वित्तविहीन विद्यालयों को परीक्षा केन्द्र बनाते हैं तो पर्चा आउट होने सहित अन्य डर बना हुआ है। उधर सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुव्रेदी का कहना है कि परीक्षा 18 नवंबर रविवार को दो पालियों में होगी।

बदली जा सकती है तारीख

पहले के तय शिड्यूल के अनुसार इस परीक्षा के लिए आवेदन करने की तारीख 4 अक्टूबर की शाम 6 बजे तक थी। बाद में ऑनलाइन आवेदन 7 अक्टूबर तक किए गए। डेट को बढ़ाने का फैसला साइट के लगातार स्लो रहने या सर्वर डाउन होने की शिकायतों की वजह से लिया गया था। अभी ये परीक्षा 18 नवंबर को होनी है। अब देखना ये है कि क्या एक बार फिर परीक्षा की तारीख बदलेगी या फिर कोई दूसरा रास्ता निकाला जाएगा।

पहले भी टल चुका है डेट

इससे पहले यह परीक्षा 4 नवंबर को होनी थी लेकिन टीईटी अभ्यर्थियों द्वारा 3 दिनों तक परीक्षा नियामक कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करने के बाद परीक्षा की तारीख को बदलकर 18 नवंबर किया गया था। एक साथ कई परीक्षाओं के पड़ने व कई दिनों तक टीईटी की वेबसाइट डाउन रहने की वजह से अभ्यर्थियों को काफी मुसीबत का सामना करना पड़ा। इन्हीं सब कारणों की वजह से परीक्षा की तारीख को 18 नवंबर किया गया था। लेकिन एक बार फिर तीन परीक्षाओं के एक साथ होने की वजह से परीक्षा की तारीख बदलने की संभावना बढ़ गई है।

Share & Get Rs.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!