Breaking News

आपके नाम का चालान कट गया हो तो कुछ इस तरह ऑनलाइन करे चेक, जाने कैसे

Loading...

देश में इन दिनों नए मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर चारों तरफ चर्चा है। दरअसल देश में राजधानी दिल्ली समेत कई राज्यों में संशोधित मोटर वाहन विधेयक लागू हो चुका है। इसके साथ ही नए विधेयक के तहत गाड़ियों के चालान कटने भी शुरू हो गए हैं।

हालांकि अगर आप यह सोचते हैं कि एक नागरिक की तरह आप ट्रैफिक नियमों का पूरी तरह से पालन करते हैं और किसी ट्रैफिक पुलिस वाले ने आपको रोका नहीं है, तो आप गलत भी हो सकते हैं। जी हां, दरअसल ऐसा भी हो सकता है कि आपके नाम का चालान कट गया हो तो इसको चेक करने का भी तरीका है और को भी बेहद आसान। चलिए जानते हैं इसके बारे में..

Loading...

SMS से करें पता

बता दें कि कई बार जल्दबाजी या हड़बड़ी में कई मौकों पर ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन हो ही जाता है, लेकिन आपको पता नहीं चलता। ऐसा हो सकता है कि आपका चालान भी कटा हो, लेकिन आपको पता ही न चला हो।

मालूम हो कि अगर आपने जाने-अनजाने में कोई ट्रैफिक नियम तोड़ा है, तो आप उसका पता भी लगा सकते हैं। जी हां, दरअसल हाल ही में दिल्ली-एनसीआर में कई लोगों को एसएमएस के जरिये पता चला है कि उन्होंने ट्रैफिक नियमों को तोड़ा है। बता दें कि उस एसएमएस में उन्हें एक लिंक भी भेजा गया है, जहां वे चालान के स्टेटस का पता लगा सकते हैं।

ई-चालान के भेजे जा रहे हैं लिंक

आपको बता दें कि लोगों ने जब उस लिंक को खोला, तो जान कर आश्चर्य हुआ कि उनका ई-चालान हुआ हो चुका है। उनको ओट चला कि उसमें उनका गाड़ी की फोटो के साथ चालान की राशि और तारीख और समय भी लिखा हुआ था।

बता दें कि पूर्वी दिल्ली में रहने वाले कृष्णा को एसएमएस के जरिये पता चला कि 20 अगस्त को उनका ओवरस्पीड का चालान हुआ था, जो पेंडिंग था। दरअसल उसमें उनकी कार की फोटो के साथ जुर्माने की राशि 400 रुपये लिखी हुई थी।

यहां चेक करें चालान

ऐसा ही कुछ उत्तरी दिल्ली की रहने वाली कनिका के साथ हुआ हालांकि उनको कोई एसएमएस नहीं मिला। लेकिन उन्होंने ऑनलाइन चेक किया, तो पता चला उनकी कार का फोटो समेत ई-चालान पेंडिंग है और उन पर 100 रुपये का रेड लाइट जंप का चालान 7 जुलाई को हुआ था, लेकिन उन्हें इसके बारे में कोई सूचना ही नहीं थी।

हालांकि आपको बता दें कि ई-चालान में मोटर व्हीकल एक्ट की धारा का जिक्र किया होता है, साथ ही ऑनलाइन पेमेंट का लिंक भी होता है। दरअसल इस संबंध में दिल्ली ट्रैफिक पुलिस का यह कहना है कि अप्रैल 2018 में नई कार खरीदने पर मोबाइल नंबर देना अनिवार्य है।

बता दें कि उनके पास मौजूद डाटाबेस में 60 % मोबाइल नंबर बिल्कुल सही हैं, वहीं जैसे ही कोई ऑनलाइन चालान भरता है, डाटाबेस में उसका नंबर अपडेट हो जाता है। मालूम हो कि अपना ई-चालान चेक करने के लिए आप लिंक पर https://echallan.parivahan.gov.in/index/accused-challan पर देख सकते हैं।

इस प्रकार अपडेट करें अपना मोबाइल नंबर

आपको बता दें कि इसके अलावा परिवहन पोर्टल जिसका लिंक ये है https://parivahan.gov.in/parivahan//node/1978 पर जाकर अपने मोबाइल नंबर को अपडेट भी किया जा सकता है। बता दें कि यहां पर आपको वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर, चैसिस नंबर, इंजन नंबर और मोबाइल नंबर भरना होगा, जिसके बाद आपको मोबाइल पर ओटीपी आएगा।

मालूम हो कि अगर डाटाबेस में आपका नंबर अपडेट नहीं होगा, तो चालान या तो सीधे आपके घर पर आएगा, या ऑनलाइन जारी होगा। दरअसल अगर आपने तय तिथि या छह महीने तक चालान नहीं भरा, तो आपके मामले को कोर्ट भेज दिया जाएगा।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!