Breaking News

अनुच्छेद 370 के बाद बढ़ते तनाव के बीच पाक ने किया दावा, कहा :’अगर भारतीय पाक में फंसे है तो…’

Loading...
अनुच्छेद 370 हटने के बाद बढ़े तनाव के बीच पाक ने बोला है कि अगर भारतीय पाक में फंसे हुए हैं, तो पाकिस्तान सरकार उन्हें अपने वतन जाने की सुविधा देने के लिए तैयार है. यह भारतीय नागरिक वाघा सीमा के माध्यम से पैदल अपने वतन वापस जा सकते हैं. दोनों राष्ट्रों के बीच पैदा हुए तनाव के बावजूद अटारी-वाघा सीमा के दरवाजे खुले हैं.

पाक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डाक्टर मोहम्मद फैसल ने इस मुद्दे में ट्विटर हैंडल से लिखा है है. फैसल ने बोला कि करतारपुर कॉरिडोर पर मीटिंग जल्द होगी. श्री गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व से पहले नवंबर में करतारपुर कॉरिडोर खोलने के लिए पाक प्रतिबद्ध है.
निर्माणाधीन करतारपुर कॉरिडोर की सड़कों को आपस में जोड़ने के लिए पाक सरकार द्वारा स्थगित की गई टेक्निकल अधिकारियों की मीटिंग अब जल्दी होगी. अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद दोनों राष्ट्रों के बीच पैदा हुए तनाव के बावजूद पाक करतारपुर कॉरिडोर के निर्माण के लिए वचनबद्ध है.

पाक सरकार करतारपुर कॉरिडोर के रास्ते हिंदुस्तान के साथ पहली वीजा-मुक्त सीमा पार करने की अपनी इस योजना पर पीछे नहीं हटेगा.

Loading...
डाक्टर फैजल ने बोला कि पाक ने हिंदुस्तान के साथ राजनयिक संबंधों को डाउनग्रेड किया है. हिंदुस्तान के साथ द्विपक्षीय व्यापार को निलंबित कर दिया है. इसके बावजूद पाककरतारपुर कॉरिडोर की योजना के साथ रहना चाहता है. हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि भारतीय पक्ष इस परियोजना के लिए प्रतिबद्ध रहने के लिए तैयार होगा. करतारपुर कॉरिडोर राष्ट्रोंके बीच मतभेदों को दूर करने में मदद कर सकता हैं. हिंदुस्तान ने अभी तक दुनिया बैंक की सिंधु जलसंधि का नवीकरण नहीं किया है.
हर पखवाड़े करतारपुर कॉरिडोर के निर्माण की होगी समीक्षा
केंद्रीय ग्रह मंत्रालय के उच्च अधिकारियों ने बुधवार को करतारपुर कॉरिडोर के निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया है. जानकारी के अनुसार इस मीटिंग के बाद ग्रह मंत्रालय के अधिकारियों ने करतारपुर कॉरिडोर के निर्माण में जुटी सभी कंपनियों और सरकारी अधिकारियों को हर पखवाड़े कार्य की समीक्षा करने के आदेश दिए हैं. साथ ही यात्रियों के लिए बनाए जा रहे यात्री टर्मिनल बिल्डिंग के कार्य को 31 अक्तूबर से पहले पूरा करने के लिए तीन शिफ्टों में कार्य करने के आदेश दिए गए हैं.

गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के लिए एक नए दर्शन स्थल के निर्माण का सुझाव भी अधिकारियों ने दिया है. भारतीय अधिकारियों को पाक के साथ सड़कों की कनेक्टिवटी जोड़ने के लिए टेक्निकल अधिकारियों की एक मीटिंग का इंतजार है.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!